संपादकीय

editorial

संपादकीय

उनकी जुमलेबाजी और झूठ की कोई थाह नही

देश के प्रधानमंत्री ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का शिलान्यास करते हुए फिर एकबार मुस्लिम महिलाओं और तीन तलाक का राग छेडा और कांग्रेस को निशाना बनाते हुए स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व करने वाली पार्टी को केवल पुरूषों और वह भी मुस्लिम पुरूषों की पार्टी बताने का प्रयास किया। जाहिर है […]

संपादकीय

भाजपा 2019 में जीतती है तो भारत ‘‘हिंदू पाकिस्तान‘‘ नही ब्राहमणवादी हिंदू राष्ट्र बन जायेगा

कांग्रेस नेता शशि थरूर का बयान सुर्खियों में है। उन्होंने कहा कि यदि 2019 में भाजपा जीतती है तो वह ‘‘हिंदू पाकिस्तान‘‘ बन जायेगा। थरूर के इस बयान से जहां कांग्रेस ने उन्हें शब्द चुनने की सीख दी है तो वहीं भाजपा ने उन जवाबी हमला बोला है। पंरतु वास्तविकता […]

संपादकीय

“रेप राज्य” में अपराध को हिंदू मुसलमान बनाना भगवा भक्तों के संघी संस्कार

देश में जनसंख्या के मामले में पांचवे पायदान पर खड़ा मध्य प्रदेश बलात्कार के दर्ज मामलों को लेकर देश का रेप राज्य कहलाने का हकदार हो गया है। रेप राज्य के भक्त मंदसौर में एक सात की मासूम बच्ची के साथ हुए निर्मम और भयावह काण्ड़ के बाद भी अपना […]

संपादकीय

भगवा आतंकी की रक्षा के लिए दलित गिरफ्तारियां

दुनिया की सबसे बड़ी और दीर्घकालिक शोषण व्यवस्था अपने अस्तित्व और वर्चस्व के लिए फिर से हमलावर है। उसका हमला उत्पीड़न के नये रूपों और नई साजिशों के रूप में रोजाना सामने आ रहा है। वह अपने वर्चस्व को बनाये रखने के लिए नयी अवधारणाएं गढ़ती है, नये नायक और […]

INN Bharat संपादकीय

मीड़िया के इस संकटकाल में आपको नही जाना था, राजकिशोर जी……………..

आईएनएन भारत हिंदी के वरिष्ठ पत्रकार/लेखक/संपादक राजकिशोर जी हमारे बीच नही रहे। यह मीड़िया का संकट काल है, ऐसे समय में जब मीड़िया की स्वतंत्रता और मीड़िया की भूमिका गंभीर सवालों के घेरे में है तो राजकिशोर जी का जाना संकट में आकस्मिक और स्तब्ध कर देने वाला आघात है। […]

संपादकीय

कर्नाटक में एक हारी हुई लड़ाई लड़ रही है भाजपा

कर्नाटक में जैसे जैसे मतदान का दिन करीब आ रहा है चुनावी गर्मी और नेताओं की बयानबाजी लगातार तेज हो रही है। पूरे चुनाव प्रचार का सबसे दुखद पहलू इसमें नेताओं द्वारा लगातार किये जा रहे निम्न स्तर के आरोप प्रत्यारोप है। परंतु इस स्तरहीन बयानबाजी का सबसे अफसोस जनक […]

संपादकीय

मोदी का कमजोर इतिहास ज्ञान कर्नाटक में भाजपा को कर रहा है फायदा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपनी पार्टी भाजपा और उसके मातृ संगठन में बड़े भाषणबाज नेता माने जाते हैं परंतु जिस प्रकार का इतिहास बोध उनके भाषणों से झलकता है वह प्रधानमंत्री पद की गरिमा को तार तार करने वाला है। ऐसा भी नही कि उनका यह इतिहास बोध कोई एक या […]

संपादकीय

भारतीय राजनीति के पाखंडवाद का शिकार है माकपाई राजनीतिक पाखंड

भारतीय राजनीति लगातार झूठ और पाखंड का शिकार होती जाउ रही है। पहले वामपंथी दलों से कुछ नैतिकता और सरलता और साफगोई की उम्मीद की जा सकती थी परंतु मौजूदा दौर में वामपंथी दल भी उसी चालू राजनीतिक पाखंड का शिकार हो गये लगते हैं। हाल ही में हैदराबाद में […]

संपादकीय

मोदी सरकार के बैंकिंग सुधारों ने पैदा किया करेंसी संकट, अर्थव्यवस्था गहरे संकट में

हिंदी भाषी क्षेत्रों विशेषकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश और हरियाणा में एक कहावत मशहूर है ‘‘जिसका काम उसी को साझे, और करे तो जूता बाजे‘‘। मोदी सरकार के वित्त मंत्री अरूण जेटली ने जब से वित्त मंत्रालय संभाला है वह रोजाना इसी कहावत को चरितार्थ करते नजर आते हैं। वो देश […]

संपादकीय

खलनायकों, शैतानों के नायक बन जाने की राजनीति

निर्भया काण्ड़ पर जिस तरह से पूरा देश आंदोलन में उतरा दिखाई पड़ रहा था और जो आवाजें अपराधियों के खिलाफ उठ रही थी, उन आवाजों ने महिलाओं की सुरक्षा के सवाल पर पूरे देश में एक उम्मीद सी पैदा की थी। परंतु कठुआ की आठ साल की मासूम आसिफा […]