विमर्श

Discussions

आलेख विमर्श

रक्षामंत्री के फ्रांस दौरे से राफेल पर और गहराये शक के बादल

महेश राठी जिस प्रकार से भारत की रक्षामंत्री ने आनन फानन में फ्रांस की दो दिवसीय यात्रा की है उससे राफेल डील पर शक के बादल और गहरा गये हैं। निर्मला सीतारमण की दो दिवसीय यात्रा को जिस प्रकार की सतही तवज्जो फ्रांस सरकार ने दी है उससे साफ जाहिर […]

INN Bharat विमर्श

यूपी-बिहार पर हमले का गुजराती विकास माॅडल अथवा मोदी की उन्मादी राजनीति

देशभक्ति का सर्टिफिकेट बाटने वाले, भारत माता पर कॉपीराइट का दावा करने वालो क्या आपको यह भी नहीं पता कि बिहार-यूपी भी भारत का ही भाग है और वहां के नागरिक इसी देश के नागरिक हैं। जिन्हें भारतीय संविधान के अनुसार भारत के किसी भी भाग में निवास करने, व्यापार […]

INN Bharat आलेख

बहुजन आन्दोलन के सफल नायक मान्यवर कांशीराम

जब कभी सवर्णों को थोड़ा बहुत शक्ति सत्ता छोड़ने पर बाध्य होना पड़ता है तो वे बचाव के लिए घटिया तरीकों पर उतर आते हैं। उन्होंने बार बार यह खयाल रखा है कि किसी भी प्रकार तथा किसी भी तरह से शक्ति सत्ता से उनका कब्जा खत्म न हो।”   […]

विमर्श

आंबेडकर के जातिवाद के विनाश के दृष्टिकोण से आर्यभट एक आदर्श दलित प्रतीक हैं

चंद्रकांत राजू पटना और नालंदा के बीच स्थित कुसुमपुरा के प्रसिद्ध गणितज्ञ आर्यभट एक दलित थे। यह भट नाम से ही स्पष्ट है। भट शब्द का अर्थ समनामी भट्ट के ठीक विपरीत है। भीमा-कोरेगांव की लड़ाई के स्मृति खंभ पर जो बाईस महार नाम अंकित हैं, उसका प्रचार सबसे पहले […]

INN Bharat संपादकीय

महागठबंधन में दरारः अखिलेश यादव से सीखे कांग्रेस

यूपी के लोकसभा उप चुनावों में सपा और बसपा का चुनावी तालमेल ना केवल आम आदमी बल्कि राजनीतिक गलियारों में भी किसी अजूबे से कम नही था। परंतु सपा और बसपा ने समय की जरूरत समझते हुए इस कारनामे को अंजाम देकर दिखाया। इसके बाद भी सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव […]

संपादकीय

असंतुष्ट किसानों की वापसी मोदी के जाने की तैयारी

किसान क्रान्ति यात्रा का दिल्ली सीमा पर जमावडा खत्म हुआ। परंतु दिल्ली से असंतुष्ट किसानों की वापसी मोदी सरकार की वापसी की पटकथा लिख गयी है। किसानों की मांगों में से सात पर सरकार की तथाकथित सहमति से असहमति जताकर और अपने संघर्ष को जारी रखने का ऐलान करके किसानों […]

संपादकीय

संघ-भाजपा की हार की आहट और माफीनामों का इतिहास

आईएनएन भारत डेस्क आरएसएस द्वारा विज्ञान भवन में आयोजित संवाद सम्मेलन में जिस प्रकार से संघ ने अपनी छवि सुधारने की मुहिम की शुरूआत करते हुए झूठ का अंबार लगाया उससे साफ जाहिर है कि संघ-भाजपा आगमी लोकसभा चुनाव 2019 में अपनी हार की आहट से डरे हुए हैं। हालांकि […]

आलेख विमर्श

नुलकातोंग जनसंहार और सरकार की जिम्मेवारी

सुनील कुमार भारत के ‘प्रधान सेवक’ ने 72 वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले से देश को सम्बोधित करते हुए शुरूआत में ही आदिवासियों-नौजवानों को याद किया और कहा कि ‘‘दूर-सुदूर जंगल में जीने वाले नन्हे-मुन्ने बच्चों ने एवरेस्ट पर झंडा फहरा कर तिरंगे की शान बढ़ा दी है’’। मैं […]

संपादकीय

संवैधानिक संस्थाओं के फैसलों में सुनाई दे रही है मोदी की हार की आहट

आरबीआई से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक मौजूदा दौर में भारतीय लोकतंत्र की संवैधानिक संस्थाओं ने जो रूख दिखाया है उससे मौजूदा मोदी सरकार की खासी किरकिरी हुई है। इन निर्णयों को देखकर कहा जा सकता है कि यह संस्थान अब समझ चुके हैं कि मोदी सरकार की उल्टी गिनती शुरू […]

संपादकीय

यह अघोषित आपातकाल की घोषणा की कार्रवाई है

भगवा सरकार का अर्बन नक्सल विरोध अभियान शुरू हो गया है। समाज में ऐसे लोग जिनकी आवाज समाज के बड़े हिस्से को प्रभावित करती है और कारपोरेट पूंजी की खुली लूट को वैध करने की सरकार की तथाकथित विकास की अवधारणा का विरोध करती हैं, उन आवाजों को खामोश करने […]