विमर्श

Discussions

आलेख

मोदी और शाह पर राहुल के हमलों से बौखलाया गोदी मीड़िया

महेश राठी कर्नाटक में येदियुरप्पा के इस्तीफा देने और भाजपा सरकार गिर जाने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नई दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमित शाह पर जमकर हमला किया। मोदी और शाह के बारे में कहना मुश्किल है कि […]

INN Bharat आलेख

कर्नाटक के बाद भी विपक्ष सुप्तावस्था में, कांग्रेस को क्षेत्रीय दलों को आगे रखकर व्यापक एकता बनानी होगी

संजय यादव प्रत्येक चुनाव में हारने और जीतने वाले दोनों के लिए निश्चित ही कुछ संदेश होते हैं। और कर्नाटक चुनावों के भी विपक्षी दलों के लिए एक साफ संदेश है। चाहे आपके पास चुनाव पूर्व और चुनाव के बाद के गठबंधन के रूप में महत्वपूर्ण बहुमत हो तो भी […]

संपादकीय

कर्नाटक में एक हारी हुई लड़ाई लड़ रही है भाजपा

कर्नाटक में जैसे जैसे मतदान का दिन करीब आ रहा है चुनावी गर्मी और नेताओं की बयानबाजी लगातार तेज हो रही है। पूरे चुनाव प्रचार का सबसे दुखद पहलू इसमें नेताओं द्वारा लगातार किये जा रहे निम्न स्तर के आरोप प्रत्यारोप है। परंतु इस स्तरहीन बयानबाजी का सबसे अफसोस जनक […]

आलेख

जिन्ना, सावरकर और श्यामा प्रसाद मुखर्जी की इस दोस्ती को क्या नाम दें

महेश राठी श्यामा प्रसाद मुखर्जी और मोहम्मद अली जिन्ना भारतीय इतिहास के ऐसे दो नाम हैं जिनमें आजादी से पहले स्पर्धा कम और दोस्ती ज्यादा दिखाई देती है और आजादी के बाद भगवा राजनीतिक दोनों को एक दूसरे का दुश्मन बनाकर पेश करती है। असल में आजादी से पहले दोनों के […]

संपादकीय

मोदी का कमजोर इतिहास ज्ञान कर्नाटक में भाजपा को कर रहा है फायदा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपनी पार्टी भाजपा और उसके मातृ संगठन में बड़े भाषणबाज नेता माने जाते हैं परंतु जिस प्रकार का इतिहास बोध उनके भाषणों से झलकता है वह प्रधानमंत्री पद की गरिमा को तार तार करने वाला है। ऐसा भी नही कि उनका यह इतिहास बोध कोई एक या […]

संपादकीय

भारतीय राजनीति के पाखंडवाद का शिकार है माकपाई राजनीतिक पाखंड

भारतीय राजनीति लगातार झूठ और पाखंड का शिकार होती जाउ रही है। पहले वामपंथी दलों से कुछ नैतिकता और सरलता और साफगोई की उम्मीद की जा सकती थी परंतु मौजूदा दौर में वामपंथी दल भी उसी चालू राजनीतिक पाखंड का शिकार हो गये लगते हैं। हाल ही में हैदराबाद में […]

संपादकीय

मोदी सरकार के बैंकिंग सुधारों ने पैदा किया करेंसी संकट, अर्थव्यवस्था गहरे संकट में

हिंदी भाषी क्षेत्रों विशेषकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश और हरियाणा में एक कहावत मशहूर है ‘‘जिसका काम उसी को साझे, और करे तो जूता बाजे‘‘। मोदी सरकार के वित्त मंत्री अरूण जेटली ने जब से वित्त मंत्रालय संभाला है वह रोजाना इसी कहावत को चरितार्थ करते नजर आते हैं। वो देश […]

संपादकीय

खलनायकों, शैतानों के नायक बन जाने की राजनीति

निर्भया काण्ड़ पर जिस तरह से पूरा देश आंदोलन में उतरा दिखाई पड़ रहा था और जो आवाजें अपराधियों के खिलाफ उठ रही थी, उन आवाजों ने महिलाओं की सुरक्षा के सवाल पर पूरे देश में एक उम्मीद सी पैदा की थी। परंतु कठुआ की आठ साल की मासूम आसिफा […]

Featured संपादकीय

एससी/एसटी कानून में बदलाव, पुनर्विचार याचिका और राजभर का बयान बड़ी संघी साजिश

आईएनएन भारत डेस्क: देश में ब्राहमणवाद के पोषक और नेतृत्वकारी संगठन आरएसएस और भाजपा ने अपने जाने पहचाने अंदाज में एक नई चाल चल दी है।  एससी/एसटी कानून पर बनी बहुजन एकता से घबराये संघी टोले ने पिछड़ा वर्ग से आने वाले पूर्वी उत्तर प्रदेश में राजभरों के नेता होने […]

आलेख

रामराज्य और समाजवाद

डा. गिरीश उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा बजट भाषण पर चर्चा के दौरान विधान परिषद् में “समाजवाद” को लेकर दिए गये वक्तव्य ने एक नई बहस को जन्म दे दिया है। हो सकता है कि बड़बोले श्री आदित्यनाथ ने यह बातें समाजवादी पार्टी के नाम में विहित समाजवाद […]