अखिलेश यादव ने बैंक की लाईन में जन्में खजांची को दिया दो घरों का उपहार

आईएनएन भारत डेस्क
मोदी की जन विरोधी और हत्यारी नोटबंदी के समय 150 से अधिक लोगों ने अपनी जान गंवाई थी इसके अलावा ऐसी भी घटनाएं हुई जिसमें बैंक में नोट बदलने की लाईन में ही मां ने अपने बच्चे को जन्म दिया। ऐसी ही एक घटना उत्तर प्रदेश में हुई थी जिसमें बैंक में जन्में बच्चे का समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने बैंक में जन्में उस बच्चे का नाम खजांची रखा था। समाजवादी नेता की गोद में मोदी जी की कार्पोरेटपरस्त नीति नोट बन्दी के दौरान बैंक में पैदा हुआ वही बच्चा है। जिसका नामकरण समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने किया था।

हाल ही में खजांची का बर्थडे था। जिसे सपा प्रमुख ने और अधिक हैप्पी बना दिया है। सपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी की तरफ से खजांची को उसके जन्मदिन पर दो घर उपहार में दिये हैं। इससे ना केवल खजांची का बर्थडे और अधिक हैप्पी हो गया बल्कि उसके परिवार में भी खुशियों की बहार आ गयी लगती है।

ध्यान रहे, मोदी की नोटबंदी एक ऐसा आतंक था जिसके वजह से करोड़ों की जिंदगी बर्बाद हो गई, सैकड़ों की मौत हो गई और खजांची जैसे न जाने कितने बच्चे हॉस्पिटल की जगह बैंक में पैदा होने को मजबूर हो गये।

सपा के लोगों का मानना है कि लोगों को मुसीबत में डालना ही मोदी जी की उपलब्धि है। लेकिन समाजवादी परम्परा इन तथाकथित राष्ट्रवादियों से बिल्कुल उलट है। मुसीबत में साथ देना और अन्याय के खिलाफ लड़ना ही समाजवादियों की पहचान है।

सपा नताओं के अनुसार इसी तरह नेताजी भी गरीबों, किसानों की मदद बिना माँगे कर दिया करते थे। एक बार तो मथुरा या वृन्दावन के किसी एक किसान पर वही गाँव के किसी सामंत ने ढेर सारा कर्ज लाद दिया था जिसको खत्म कराने के लिये नेताजी ने डीएम से लेकर गाँव के प्रधान तक को पंचायत बुलाकर बैठाया और उस पंचायत में किसान का सारा कर्ज माफ कराया।

इसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने खजांची का दूसरा जन्मदिन मनाया और उन्हें उपहार में दो घर दे डाले। अखिलेश यादव की इस अनौखी पहल को सपा ने अपने सोशल मीड़िया पर जारी किया है।