ईवीएम पर फिर उठे सवाल, अबकी बार स्ट्रांग रूम में मशीन की सुरक्षा संदेह के घेरे में

आईएनएन भारत डेस्क
चुनाव आयोग एक बार फिर से ईवीएम से छेडछाड के मामले में सवालों के घेरे में है। हरेक चुनाव के बाद ईवीएम मशीनों से छेड़छाड़ के आरोप चुनाव आयोग पर लगाये जाते हैं और चुनाव आयोग की साख इन सवालों के कारण साल दर साल सवालों के घेरे में आती जाती है। अब की बार के सावालों के कारण चुनाव आयोग के स्ट्रॉन्ग रूम में भी इनकी सुरक्षा संदेह के घेरे में आ गयी है। इस सुरक्षा के सवालों के बीच तमाम विपक्षी दल इस साजिश के पीछे केंद्र की सत्तारूढ़ भाजपा को दोषी ठहरा रहे हैं। वैसे यह बात दीगर है कि हर बार कर तरह ही चुनाव अधिकारी इन तमाम आरोपों को बेबुनियाद बताने की रस्म अदायगी कर रहे हैं।

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में चुनाव संपन्न हो चुके हैं. चुनावों के दौरान यहां भारी मात्रा में ईवीएम मशीनों में खराबी की शिकायतें दर्ज कराई गई। ऐसे में मतदान प्रक्रिया के खत्म होने के बाद भी कई राजनीतिक दल स्ट्रॉन्ग रूम में ईवीएम से छेड़छाड़ की आशंका जताते रहे थे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया ने छत्तीसगढ़ में मतदान की गिनती प्रक्रिया की सुरक्षा सुनिश्चित करने और स्ट्रॉन्ग रूम के आसपास भी अज्ञात लोगों के घूमने की शिकायत चुनाव आयोग को की है।

चुनाव आयोग के साथ बैठक के बाद वरिष्ठ कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने कहा छत्तीसगढ़ में मतदान खत्म हो गया है। हमने ईवीएम और स्ट्रॉन्ग रूम में सुरक्षित गिनती प्रक्रिया और उनके सुरक्षा उपायों को सुनिश्चित करने के लिए आयोग को सुझाव दिया है। क्योंकि लैपटॉप और मोबाइल के साथ कुछ अज्ञात व्यक्तियों को स्ट्रॉन्ग रूम के आसपास देखा गया था, जिसकी अनुमति नहीं होती है।
गौरतलब है कि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में मतदान प्रक्रिया के दौरान कई जगहों पर ईवीएम की

खराबियों के बाद अब स्ट्रॉन्ग रूम में उनकी सुरक्षा पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। ऐसे में विपक्षी दलों के शक और शंका के केंद्र में बीजेपी है। ऐसी ही एक शिकायत कांग्रेस पार्टी ने भोपाल में भी दर्ज कराई थी। कांग्रेस ने भोपाल के स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर लगी एलईडी के बंद होने पर आपत्ति दर्ज कराते हुए निर्वाचन आयोग में शिकायत की थी। वहीं सागर में भी ईवीएम के स्ट्रांग रूम में देरी से पहुंचने के कारण काफी हंगामा हुआ था। बताया जाता है कि चुनाव खत्म होने के 48 घण्टे बाद ईवीएम मशीने स्ट्रांग रूम पहुंची थी। जिस पर काफी बवाल भी हुआ और प्रशासन ने सफाई देते हुए कहा कि यह रिर्जव ईवीएम मशीने थीं।

मध्य प्रदेश के शुजालपुर में भी ईवीएम मशीन को लेकर विवाद सामने आया है। कांग्रेस नेता सलमान निजामी ने भी ट्विटर पर एक वीडियो शेयर की है। इस वीडियो के साथ उन्होंने लिखा है कि चुनाव ड्यूटी पर लगे सरकारी अधिकारी एक निजी होटल में रुके जिसका मालिक बीजेपी नेता है। इस दौरान ईवीएम भी उनके साथ थी। इसके बाद आम आदमी पार्टी नेता सौरभ भारद्वाज ने भी इस वीडियो को शेयर किया है।