किसान आंदोलन : किसान मुक्ति मार्च का कारवां पहुँचा दिल्ली, कल करेंगे संसद कूच

आईएनएन भारत डेस्क

नई दिल्ली: देशभर से आये किसान अपने विभिन्न मांगों को लेकर दिल्ली के ऐतिहासिक रामलीला मैदान में पहुँच चुके है। इस ठंढ के महीने में वे खुले आसमान में रात बिताने को मजबूर है। शुक्रवार को अपनी मांगों को लेकर संसद मार्च करेंगे। फिलहाल मैदान में हर तरफ हज़ारो की संख्या में किसान अपने अपने संगठनों के बैनर लिए मौजूद है। सुबह तक और भी किसान दिल्ली पहुँचकर किसान मुक्ति मार्च में हिस्सा लेंगे। ऑल इंडिया किसान समन्वय समिति के अंतर्गत लगभग 200 किसान संगठन अपने प्रमुख मांगो को लेकर इसमें भाग ले रहे है।

किसानों के प्रमुख मांगो में:-

-ऋणग्रस्तता से किसानों की मुक्ति बिल 2018 पास किया जाए
-न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी किसानों का अधिकार बिल 2018 पास किया जाए।
-किसानों को कर्ज से पूरी तरह से मुक्त किया जाए।
-पानी पर नियँत्रण व उपभोग को प्रभावित करने वाली वर्गीय जातीय और लैंगिक असमानतो पर विचार किया जाय।
-कृषि, स्वास्थ्य और शिक्षा में सार्वजनिक निवेश में आ रही गिरावट को पहले रोका और फिर उसे बढ़ाया जाए।
-मनमाने ढंग से भूमि अधिग्रहण पर रोक लगाया जाए।
-कृषि क्षेत्र में बढ़ते कॉरपरेट शिकंजे को तोड़ा जाए।
-दलितों और आदिवासियों के भूमि अधिकारों को सुनिश्चित किया जाए।

-कृषि अनुसंधान और तकनिकी के निजीकरण पर रोक जाए।

 

किसानों की “किसान मुक्ति मार्च” कैमरा की नजर से:-