तेलगु देशम पार्टी MLA के सर्वेश्वर राव और पूर्व विधायक सिवेरी सोमा की नक्सलियों ने की हत्या

आईएनएन भारत डेस्क:
विगत कुछ वर्षों से बिहार के दक्षिणी भाग से लेकर छत्तीसगढ़, झारखंड, पाश्चमी वेस्ट बंगाल, उड़ीसा से होते हुए आंध्र प्रदेश तक प्रतिबंधित भाकपा (माओवादी) ने अपनी जाल फैला रखा हैं। छत्तीसगढ़ में हुए हमले, जिसमें काँग्रेस पार्टी के कई दिग्गज नेताओं की हत्या हुई थी, के बाद सबसे बड़े हमले में प्रतिबंधित भाकपा (माओवादी) के उग्रवादियों ने रविवार को विशाखापट्टनम जिले के अराकु इलाके में सत्तारूढ़ तेदेपा के एक वर्तमान विधायक और एक पूर्व विधायक की गोली मारकर हत्या कर दी।

मीडिया में आ रही खबरों की माने तो यह घटना दंबरीगुडा मंडल में लिप्पिटीपुत्ता गांव में उस वक्त घाटी, जब अराकु (एसटी) सीट से विधायक किदारी सर्वेश्वर राव और पूर्व विधायक सिवेरी सोमा ‘ग्राम र्दिशनी’ कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिये गए थे। सर्वेश्वर राव वाईएसआर कांग्रेस के उम्मीदवार के तौर पर 2014 में चुनाव जीते थे, लेकिन बाद में वह तेदेपा में शामिल हो गए थे।

विशाखापट्टनम क्षेत्र के पुलिस उप महानिरीक्षक सी श्रीकांत ने पीटीआई-भाषा को बताया कि ‘‘ग्रामीणों के साथ माओवादियों का एक समूह आया और उसने विधायक की कार रोक दी और जैसे ही विधायक के निजी सुरक्षा अधिकारी और पूर्व विधायक नीचे उतरे, उन्होंने उनसे एके-47 राइफल छीन ली और सर्वेश्वर राव और सोमा की गोली मारकर हत्या कर दी।’’ उन्होंने कहा कि हमले में शामिल माओवादियों की ठीक-ठीक संख्या का पता नहीं चल पाया है और विधायक की हत्या के पीछे के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू फिलहाल न्यूयॉर्क में हैं। मीडिया में आ रही खबरों की माने तो मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी एक बयान में कहा गया कि मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारियों ने विशाखापट्टनम के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक से बातचीत की और घटना का ब्योरा मांगा। बयान में कहा गया है कि उप मुख्यमंत्री (गृह) एन चिना राजप्पा और डीजीपी (प्रभारी) हरीश कुमार गुप्ता घटनास्थल के लिये रवाना हो गए हैं।