सात साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म, मंदसौर में लोगों ने किया भारी विरोध प्रदर्शन

आईएनएन भारत डेस्क
मध्यप्रदेश के मंदसौर में 7 साल की बच्ची से बलात्कार के बाद उसका गला रेत कर मौत के घाट उतारने की कोशिश की गई। बेहद गंभीर हालत में पीड़िता को मंदसौर से इंदौर रेफर किया गया है। पुलिस ने मामले में बुधवार को आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पीड़िता को मंगलवार को उसके दादा ने स्कूल छोड़ा लेकिन शाम को जब वो उसे लेने पहुंचे तो बच्ची स्कूल में नहीं थी, एक घंटे तक उसे ढूंढने के बाद उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट सिटी कोतवाली थाने में दर्ज कराई गई थी।

बुधवार को मंदसौर बस स्टैंड के पीछे उससे लगभग 700 मीटर दूरी पर लक्षमण दरवाजे के पास, कांटों से भरी झाड़ियों में बच्ची घायल अवस्था में मिली। बच्ची के शरीर पर जगह जगह काफी चोटें थी, उसके गर्दन में लंबा घाव था जिसकी वजह से फिलहाल वो कुछ भी बोल नहीं पा रही है।

पुलिस ने सीसीटीवी की मदद से एक आरोपी इरफान को गिरफ्तार किया है जो स्थानीय मंडी में हम्माल का काम करता है। इसकी पुष्टि मंदसौर एसपी मनोज सिंह ने की है। घटनास्थल से पुलिस को बीयर की बोतल के अलावा, बच्ची का स्कूल बैग, टिफिन और पानी की बोतल भी मिली है। मामले में स्कूल की लापरवाही भी सामने आई है, सूत्रों के मुताबिक स्कूल के सीसीटीवी कैमरों के तार चूहों ने काट दिये हैं, सिर्फ एक क्लिप के बूते आरोपी का सुराग मिल सका जिसमें उसका चेहरा साफ नहीं था।

बता दें आरोपी बच्ची को अपने साथ मिठाई दिलाने का लालच देकर ले गया था। स्कूल के बाहर बच्ची को खड़ी देखकर आरोपी उसके पास गया और उसे मिठाई खिलाने की बात कहकर अपने साथ ले गया. आरोपी बच्ची को अपने साथ लक्ष्मण दरवाजे के पास स्थित कांटों की झाड़ियों के पास ले गया. जहां उसने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। इस दौरान आरोपी बच्ची के साथ 3 घंटे तक रुका रहा। जिसके बाद वह बच्ची को वहीं कांटों की झाड़ियों में ही छोड़कर चला गया।

पुलिस ने बताया कि जिस स्थान पर बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ वहां की सूचना एक राहगीर ने दी थी। सूचना देने वाले व्यक्ति ने बताया कि उसने जब बच्ची को देखा था उसकी हालत काफी गंभीर लग रही थी। उसका बेल्ट खुला हुआ था और उसके चेहरे पर कई चोट के निशान थे। जिसे देखते ही उसने पुलिस को फोन कर इसकी सूचना दी और दुष्कर्म वाले स्थान पर बच्ची का स्कूल बैग, पानी की बोतल के साथ ही शराब की बोतल भी मिली है।