भाजपा सांसद का ग्रामीणों ने किया घेराव सुनाई खरी खोटी

आईएनएन भारत डेस्क
भाजपा के नेता अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी सांसदों के बैठकें करके अपने सांसदों को कह रहे हैं कि वह अपने निर्वाचन क्षेत्र में लागों के बीच जायें और अपने और सरकार के किये गये कामों को गिनवाये। परंतु लगता है कि मोदी-शाह जोड़ी की यह सलाह भाजपा सांसदों को भारी पड़ने लगी है। हाल ही में इस नजारे का सामना अलीगढ के भाजपा सांसद सत्तीश गौतम को करना पड़ा।

सत्तीश गौतम सुरक्षित जानकर अपने आदर्श गांव में चैपाल लगाने और सरकार के किये गये कामों को गिनवाने क्या गये उन्हें ग्रामीणों के तीखे सवालों का सामना करना पड़ा। गांव वालों ने उनसे ना केवल पिछले चार सालों का हिसाब मांग लिया बल्कि किये गये वादों और अधूरे कामों की फेहरिस्त उनके सामने रख डाली। जिसके बाद सांसद बड़ी मुश्किल से पीछा छुडाकर गांव से निकले।

सांसद के क्षेत्र के आदर्श गांव बसेरा में सोमवार को जिला और तहसील के अधिकारियों के साथ सांसद और विधायक ने चैपाल लगाई और लोगों की समस्याएं सुनने की कवायद क्या शुरू की उन्हें यह कवायद भारी पड़ गई। चैपाल के दौरान विकास को लेकर सांसद और ग्रामीणों में जमकर खुब गर्मा गर्मी और नोकझोंक हुई और चैपाल में हंगामा खडा हो गया। .

सांसद सतीश गौतम और विधायक खैर अनूप प्रधान सोमवार को जिले और तहसील स्तर के अधिकारियों के साथ आदर्श गांव बसेरा पहुंचे और प्राथमिक विद्यालय में चैपाल लगाई। इसी दौरान गांव के कुछ लोग आए और उन्होंने गांव में विकास कार्य कराये जाने की मांग की। वहीं सांसद ने ठीकरा गांव प्रधान व गांव वालों पर फोडते हुए पूर्व प्रधान कुशल सिंह व वर्तमान प्रधान ललित कुमार व ग्रामीणों से कह दिया कि पानी की टंकी, आंगनबाड़ी, तालाब सौन्दर्यीकरण, पार्क, श्मशान घाट आदि के लिए जगह उपलब्ध कराएं तो वह विकास कार्य कराए जाएंगे। इसी बात पर ग्रामीणों से सांसद की नोकझोंक होने लगी और जमकर हंगामा हो गया। बाद में सांसद ने कहा कि जब तक उन्हें जगह उपलब्ध नहीं कराई जाएगी वह विकास कार्य कहां कराएं।

गांव वाले लगातार सवाल कर रहे थे कि आपने श्मशान घाट नही बनवाया, पानी की टंकी नही लगवाई, आंगनबाडी का काम समुचित नही है, तालाब का सौंदर्यकरण नही करवाया, वादे के अनुसार पार्क नही बनवाया तो आपने चार साल में किया क्या है। वहीं सांसद इसका ठिकरा गांव वालों पर फोडते हुए अपनी ही अलग सफाई देते रहे।