नीतीश कुमार ने किया खैनी पर रोक से इंकार

आईएनएन भारत डेस्क
कईं दिनों से बिहार में खैनी पर रोक की चर्चा मीड़िया से लेकर आम आदमी तक जोरों पर थी परंतु बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इन चर्चाओं पर विराम लगाते हुए कहा कि उनकी सरकार की खैनी पर रोक लगाने की कोई मंशा नही है। नीतीश कुमार ने सोमवार को साफ कर दिया कि उनका खैनी पर रोक लगाने का कोई इरादा नहीं है।

अंग्रेजी के एक अखबार द हिंदू ने नीतीश कुमार के हवाले से लिखा कि फिलहाल खैनी पर रोक लगाने का सरकार का कोई इरादा नही है। उन्होंने कहा कि यह लंबे समय की प्रक्रिया है और प्रदेश में खैनी उत्पादन में लगे किसानों के लिए हम विकल्पों पर विचार कर रहे हैं। लोक संवाद कार्यक्रम से अलग पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने अपना मत रखा।

बिहार सरकार ने प्रदेश में खैनी की बिक्री और उसे खाने पर रोक लगाने की योजना बनाई थी। बिहार में खैनी के चलते सबसे ज्यादा मुंह का कैंसर होने की शिकायत है। नीतीश कुमार ने कहा कि उनकी सरकार एक्साइज कानून में सुधार की योजना बना रही है।

इससे पहले मंगलवार को बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने साफ कर दिया था कि खैनी पर प्रतिबंध के लिए केंद्र सरकार को कोई पत्र नहीं भेजा गया है। एएनआई ने एक रिपोर्ट में लिखा कि पांडेय खैनी के खिलाफ हैं क्योंकि गुटखा और खैनी ही मुंह के कैंसर का सबसे बड़ा कारण है।

फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया एक्ट के तहत जिस खाद्य पदार्थ में तंबाकू या निकोटिन पाया जाता है, उसे बैन करने का प्रावधान है। हाल ही में मीडिया की चर्चाओं में कहा गया था कि बिहार सरकार ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को एक पत्र लिखकर खैनी को खाद्य पदार्थ में शामिल करने का आग्रह किया था।