डाॅ. कफील के भाई पर जानलेवा हमला, तीन गोलियां लगी

आईएनएन भारत डेस्क
पिछले दिनों गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में आॅक्सीजन की कमी से गई 63 बच्चों की मौत के मामले में बेवजह जेल काटकर आये डाॅ. कफील के परिवार पर आने वाले संकट अभी भी थमने का नाम नही ले रहे हैं। गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल के डॉ. कफील खान के छोटे भाई काशिफ जमील पर रविवार रात को कुछ अज्ञात लोगों ने जानलेवा हमला करके उन्हें जान से मारने की कोशिश की। जमील रात करीब 10.30 बजे घर लौट रहे थे, तभी गोरखनाथ मंदिर के करीब पुल पार करते समय दो बदमाश पल्सर से आए और फायरिंग करने लगे।

इस दौरान जमील को तीन गोलियां लगीं, फिलहाल वो स्टार अस्पताल में हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो, जमील खुद बाइक चलाते हुए अस्पताल पहुंचे। उनका ऑपरेशन किया गया और फिलहाल हालत कुछ स्थिर बताई जा रही है। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है और मामले की जांच शुरू हो गई है।

मीडिया से बात करते हुए डॉ कफील ने अज्ञात हमलावरों पर उंगली उठाते हुए कहा कि मैं हमेशा कहता था कि वो हमें मारने की कोशिश करेंगे। अब सवाल यह है कि वो कौन लोग हैं जो डाॅ. कफील और उनके परिवार से इस कदर खफा हैं कि उन्होंने डाॅ. कफील के भाई पर जानलेवा हमला बोल दिया। ध्यान रहे बीआरडी अस्पताल में बच्चों की मौत मामले में जमानत पर बाहर आने पर उन्होंने एक खत लिखा था, जिसमें उन्होंने कहा था कि उनको बलि का बकरा बनाया जा रहा है। .

कफील ने इस बात का भी जिक्र किया था कि मीडिया में खबर फैल जाने से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काफी नाराज हो गए थे। यहां तक कि अस्पताल में दौरे पर आये मुख्यमंत्री ने उनसे बड़े तल्ख अंदाज में बात करते हुए उन पर तंज भी कसा था। इसके बाद पुलिस ने उन्हें और उनके परिवारवालों को परेशान करना शुरू कर दिया था। परंतु लगता है कि उनकी परेशानियों अभी भी खत्म होने का नाम नही ले रही हैं। हाल ही में वह दिल्ली भी गये थे और समाज के विभिन्न तबकों और संगठनों से रूबरू होते हुए उन्हांेंने अपनी सफाई और पक्ष भी रखा था। अपने पक्ष को रखने को क्रममें भी उन्होंने योगी सरकार और यूपी प्रशासन पर सवाल खड़े किये थे।