राजनाथ सिंह के बयान से गरमाई राजनीति, ईवीएम पर फिर उठे सवाल

आईएनएन भारत डेस्क
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक समारोह में बोलते हुए राजनाथ सिंह ने आज आये उप चुनावों के नतीजों पर प्रतिक्रिया देते हुए ऐसा बयान दिया जिससे राजनीतिक हलकों में फिर से भाजपा और ईवीएम की गड़बड़ियों पर चर्चा ने जोर पकड़ लिया है। देश के गृहमंत्री ने अपने बयान में कहा कि लंबी छलांग के लिए दो कदम पीछे हटना ही पड़ता है। उन्होंने कहा कि हम भविष्य में बहुत लंबी छलांग लगाने वाले हैं।

राजनाथ सिंह के इस बयान के कई अर्थ राजनीतिक हलकों में लगाये जा रहे हैं। राजनाथ सिंह का बयान ऐसा आभास देता है कि मानों उप चुनावों में उनकी हार उनकी रणनीति का हिस्सा है और जनता की नाराजगी का इससे कुछ खस लेना देना नही है। जानकार यह भी कह रहे हैं कि जिस प्रकार पिछले दिनों में ईवीएम के इस्तेमाल पर विपक्षी दल सवाल उठाते रहे हैं, राजनाथ सिंह के बयान से उनके आरोपों को और बल मिलेगा। राजनीतिक हलकों में पहले से ही यह चर्चा गर्म थी कि इन उप चुनावों और राज्य विधानसभाओं में भाजपा जानबूझकर कमजोर प्रदर्शन कर रही है जिससे कि राजनीतिक दलों का ईवीएम पर विश्वास बना रहे और 2019 के चुनावों में भाजपा इस विश्वास के सहारे मनमर्जी का नतीजा पा सके।

ऐसे समय में राजनाथ सिंह का यह बयान आना जब कि भाजपा को उप चुनावों में करारी हार का सामना करना पड़ा, बड़े मायने रखता है। इसे कुछ राजनीतिक विशेषज्ञ भाजपा के अन्तर्द्वंद्व से जोड़कर भी देख रहे हैं। उनका मानना है कि राजनाथ सिंह ने विपक्ष को अप्रत्यक्ष रूप से भाजपा की आगामी रणनीति का संकेत दे दिया है और सह संकेत साफ है कि यह हार सुनियोजित थी।

हालांकि राजनाथ सिंह के बयान पर अभी भाजपा की तरफ से कोई टिपप्णी नही आयी है और माना जाता है कि भाजपा इस बयान को और मामले को ज्यादा तूल नही देना चाहेगी और वह चाहेगी कि इस चुनावी नतीजे और ईवीएम की बजाये लोग अभी पेट्रोल डीजल के दामों में ही उलझे रहें और ईवीएम के खिलाफ कोई जनाक्रोश नही बन पाये। इसी कारण से भाजपा अखिलेश यादव और शिवसेना और अपनी सहयोगी शिरोमणी अकाली दल के ईवीएम विरोध पर भी खामोश ही है।

बहरहाल, राजनाथ सिंह के बयान से यह सवाल तो उठ ही रहे हैं कि भाजपा जब चाहे हारे जब चाहे जीते सब उसकी मर्जी से है और जनता का इससे कुछ लेना देना नही है। यह सब हार और जीत दो कदम पीछे हटकर हारना और लंबी छलांग की जीत भाजपा की मनमर्जी की चीजें हैं।