नीतीश कुमार का टीईटी अभ्यार्थियों ने किया जबरदस्त विरोध, लगाये नीतीश मुर्दाबाद के नारे

आईएनएन भारत डेस्क
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अररिया में बड़ा विरोध झेलना पड़ा। अररिया के जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र में हो रहे उपचुनाव में नीतीश कुमार चुनावी सभा करने गये थे। वहीं नीतीश कुमार का टीईटी अभ्यार्थियों ने जमकर विरोध किया और नीतीश मुर्दाबाद के नारे लगाये। किसी मुख्यमंत्री की मौजूदगी में उनके खिलाफ नारे लगाए जाने की यह दुर्लभ घटना है। जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र में चुनावी सभा को संबोधित करने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंच पर पहुंचे और मंच पर उनके पहुंचते ही विरोध शुरू हो गया।

ध्यान रहे कि जोकीहाट विधानसभा के लिए उपचुनाव होना है तथा 28 मई को उपचुनाव के लिए मतदान होगा. जोकीहाट की सीट जदयू के सरफराज आलम के इस्तीफे से खाली हुई थी। सरफराज फिलहाल राजद के टिकट पर अररिया से सांसद चुने गए हैं। सरफराज आलम जदयू छोड़कर राजद में शामिल हो गये थे। यहां से राजद के टिकट पर सरफराज आलम के भाई उम्मीदवार हैं। वहीं नीतीश्र कुमार और जदयू अल्पसंख्यक वोटों को अपनी और करने के लिए जी तोड प्रयास कर रहे हैं। परंतु इस घटना के बाद अब जदयू की बची खुची सुभावनाएं भी ध्वस्त हो गयी लगती हैं।

जोकीहाट विधानसभा क्षेत्र में चुनावी सभा को संबोधित करने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंच पर पहुंचे और मंच पर उनके पहुंचते ही विरोध शुरू हो गया। उर्दू टीईटी अभ्यर्थियों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। टीईटी अभ्यर्थी हाथों में तख्तियां लेकर मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे.। चुनावी सभा में पहले से ही सैकड़ों सीटी टीईटी अभ्यर्थी मौजूद थे। मुख्यमंत्री के पहुंचते ही टीईटी अभ्यर्थियों ने हंगामा शुरू कर दिया और सरकार और मुख्यमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। टीईटी अभ्यर्थी बहाली की मांग कर रहे थे।

मुख्यमंत्री के विरोध और नीतीश के खिलाफ मुर्दाबाद के इस नजारे के जदयू के ढ़ेरों नेता और कईं मंत्री भी गवाह बने। बताया जाता है जब नीतीश मुर्दाबाद के नारे लग रहे थे तो वहां पर कई नेता मौजूद थे। इनमें मंत्री विजेंद्र यादव, राज्यसभा सदस्य आरसीपी सिंह, अशोक चैधरी, लेसी सिंह आदि नेता शामिल थे।