विपक्षी एकता का अहम पड़ाव बन सकता है बुधवार को कुमारस्वामी का शपथ ग्रहण, सोनिया, राहुल को निमंत्रण देने दिल्ली आ रहे कुमारस्वामी

आईएनएन भारत डेस्क
शनिवार को येदियुरप्पा की भाजपा सरकार के गिर जाने के फौरन बाद जेडीएस नेता कुमारस्वामी ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया। उनके प्रस्ताव पर राज्यपाल ने कुमारस्वामी को सरकार बनाने का न्योता भी दे दिया। कुमारस्वामी बुधवार को शपथ लेंगे।

समझा जाता है कि कुमारस्वामी सोमवार को दिल्ली जाकर यूपीए चैयरपर्सन सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का शुक्रिया अदा करेंगे और उन्हें शपथ ग्रहण समारोह में आने का निमंत्रण भी देंगे।

राजनीतिक हलकों में कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह को काफी महत्वपूर्ण घटना के रूप में देखा जा रहा है। माना जा रहा है कि इस शपथ ग्रहण समारोह के बहाने पूर्व मुख्यमंत्री एच डी देवगौडा सभी विपक्षी दलों को एकसाथ लाने का प्रयास करेंगे और सोनिया गांधी का भी इसमें प्रत्यक्ष और परोक्ष सहयोग रह सकता है। इस शपथ ग्रहण समारोह को आने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए विपक्षी एकता की नयी कोशिश के रूप में भी देखा जा रहा है।

अभी तक कर्नाटक के मंत्रीमण्डल को लेकर भी तमाम तरह की अटकलें लगायी जा रही है। कांग्रेस इसमें शामिल होगी या नही और शामिल होगी तो कांग्रेस के कितने मंत्री होंगे और जेडीएस के कितने। इन सवालों पर कुमारस्वामी के सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मिलने का बाद ही विराम लग पायेगा। इन सभी सवालों के जवाब कांग्रेस हाई कमान को ही देने हैं। नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खडगे सहित तमाम कांग्रेसी नेता कह चुके हैं कि कांग्रेस हाई कमान ही इस पर फैसला करेगी।

वहीं दूसरी तरफ राज्यपाल ने कुमारस्वामी को भी बहुमत सिद्ध करने के लिए 15 दिनों का समय दिया है। परंतु कुमारस्वामी का कहना है कि उन्हें 15 दिन नही चाहिए बल्कि वह 24 घण्टें में ही बहुमत सिद्ध करके दिखा देंगे।