बार अध्यक्ष ने कोर्ट लाइब्रेरी से हटाई डाॅ. अंबेडकर की तस्वीर

आईएनएन भारत डेस्क
जब भगवा ब्राहमणवादी राजनीति पूरे देश में अपने आक्रामक उभार पर है तो दिल्ली उससे अछूती क्यों रहे। शायद इसी प्रकार की मंशा जाहिर करने के इरादे से रोहिणी बार एसोसिएशन के अध्यक्ष महावीर शर्मा ने मनमाने तरीके से कोर्ट लाइब्रेरी से भारत रत्न और संविधान निर्माता बाबासाहेब डाॅ. अंबेडकर की तस्वीर हटा दी है।

विभिन्न वकीलों के विरोध करने के बाद भी तस्वीर को अंअतम समाचार लिखे जाने तक वापस नही लगाया गया था। ध्यान रहे यह तस्वीर रोहिणी कोर्ट के पुस्तकालय की शोभा थी जिसे महावीर शर्मा ने अलोकतांत्रिक तरीके से बगैर किसी से चर्चा किये मनमाने तरीके से अपनी मर्जी से हटा डाला। जब अध्यक्ष की इस करतूत का विरोध किया गया तो विरोध करने वाले वकीलों के साथ अध्यक्ष ने दुर्व्यवहार किया।

बाबासाहेब की यह तस्वीर कोर्ट परिसर के दूसरे तल पर स्थित लाइब्रेरी में लगी थी। इस शर्मनाक और निन्दनीय घटना को महावीर शर्मा ने आज 15 मई 2018 को अंजाम दिया। जिसकी चारो तरफ कोर्ट परिसर में और उसके बाहर भी निंदा हो रही है।
बार एसोसिएशन के अध्यक्ष की इस करतूत का विरोध करने के लिए कुछ जागरूक वकीलों ने कल सुबह 10 बजे रोहिणी कोर्ट परिसर के कांफ्रेंस हाल के सामने एकत्र होकर इस घटना का विरोध करने का आहवान किया है। उन वकीलों ने एक अपील जारी कर सभी वकीलों से सुबह 10 बजे निर्धारित स्थान पर पहुंचने और अपना विरोध प्रकट करने की अपील की है।