सुषमा स्वराज के बाद अरूण जेटली का भी हुआ गुर्दा प्रत्यारोपण

आईएनएन भारत डेस्क
दिल्ली के एम्स अस्पताल में केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली की किडनी का सफल प्रत्यारोपण हुआ।

14 मई 2018 सोमवार को सुबह से जेटली की सर्जरी शुरू हुई थी। सूत्रों ने अनुसार, अपोलो अस्पताल के गुर्दा प्रत्यारोपण विशेषज्ञ डॉ. संदीप गुलेरिया और उनके भाई और एम्स के निदेशक और जाने माने चिकित्सक रणदीप गुलेरिया भी प्रत्यारोपण करने वाली टीम का हिस्सा थे। ध्यान रहे कि यह दोनों भाई अरूण जेटली के पारिवारिक मित्र भी हैं।

अरूण जेटली के सफल आपरेशन के बारे में एम्स की मीडिया और प्रोटोकॉल डिवीजन की प्रमुख आरती विज के द्वारा जारी एक बयान में बताया गया। बयान में बताया गया कि वित्त मंत्री अरूण जेटली की प्रत्यारोपण सर्जरी सफल रही। जेटली और उन्हें किडनी दान करने वाले डोनर का स्वास्थ्य स्थिर है और उसमें सुधार हो रहा है।

वित्तमंत्री जेटली बीते शनिवार को एम्स में भर्ती हुए थे। किडनी की बीमारी से जूझ रहे जेटली का बीते एक महीने से डायलिसिस चल रहा था। इसके लिए वो नियमित रूप से एम्स में स्वास्थ्य जांच के लिए आते थे। इस बीमारी की वजह से जेटली ने लंदन में होने वाले 10वें भारत-ब्रिटेन आर्थिक और वित्तीय वार्ता में शामिल होने का अपना कार्यक्रम भी रद्द कर दिया था। 6 अप्रैल को ही जेटली ने एक ट्वीट कर अपनी बीमारी के बारे में बताया था।

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर सफल प्रत्यारोपण के लिए अरूण जेटली को बधाई दी और साथ ही वित्त मंत्री और उन्हें किडनी दान देने वाले के स्वास्थ्य लाभ के लिए प्रार्थना भी की। मधुमेह पीड़ित अरूण जेटली का पूर्व में हृदय का ऑपरेशन भी हो चुका है और अब हृदय के बाद यह उनके गुर्दे का सफल प्रत्यारोपण हुआ है।

इससे पहले मोदी केबिनेट में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का भी पिछले वर्ष एम्स में सफल किडनी प्रत्यारोपण हो चुका है। अब अरूण जेटली मोदी सरकार के दूसरे अहम मंत्री है जिनका गुर्दे का प्रत्यारोपण हुआ है।