टाटा समाज विज्ञान संस्थान (टिस्स) के दलित छात्र ने बहुजन छात्रवृत्ति बंद करने पर ठुकरायी डिग्री

आईएनएन भारत डेस्क
मुंबईः टाटा समाज विज्ञान संस्थान (टिस्स) के एक दलित छात्र ने एससी/एसटी/ओबीसी छात्रवृति बंद करने के विरोध में डिग्री लेने से इंकार कर दिया। 7 मई 2018 को टाटा समाज विज्ञान संस्थान टिस्स में आयोजित दीक्षान्त समारोह के दौरान दलित छात्र अजित शेखर ने अपनी परास्नातक की डिग्री लेने से इंकार कर दिया। अजीत शेखर दलित और आदिवासी अध्ययन कोर्स मे परास्नातक के छात्र हैं। उन्होंने कल दिक्षांत समारोह में अपनी डिग्री लौटा दी।

अजीत शेखर

ध्यान रहे कि बहुजन छात्र पिछले 75 दिनों से आंदोलनरत हैं। पिछले दिनों युनिवर्सिटी प्रशासन द्वारा एक सर्कुलर जारी किया गया था, जिसमें छात्रवृत्ति के अंतर्गत आने वाले एससी/एसटी छात्रों से हास्टल तथा मेस का भुगतान करने को कहा गया था। इसके अलावा संस्थान ने उनको यह भी सूचित किया था कि आने वाली बैच को कोई फीस माफी नहीं मिलेगी।

ध्यान रहे कि युनिवर्सिटी ने पिछड़ा छात्रवृत्ति 2015 मे ही बन्द कर दी थीं। इसके लिए बहुजन छात्र पूरे संस्थान में धरने पर बैठे हैं। इसी कड़ी मे डिग्री वितरण समारोह मे दलित छात्र अजित शेखर मंच पर पहंुुचे मगर उन्होंने विरोध जताते हुए मंच पर ही डिग्री लेने से इंकार कर दिया।