भागलपुर एसएसपी मनोज कुमार और उनकी पत्नी ने विदाई समारोह में भावनात्मक बातें बोल सबको कर दिए भावुक

आईएनएन भारत डेस्क
भागलपुर के एसएसपी मनोज कुमार के विदाई समारोह का आयोजन भागलपुर के चिन्मय होटल में किया गया। एसएसपी मनोज कुमार के सम्बोधन ने विदाई समारोह के माहौल को भावनात्मक बना दिया। उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि भागलपुर के दो साल के कार्यकाल में जितनी सीख और संतुष्टि मिली है, शायद और जगह नहीं मिली। अपने कैरियर  के पुरे पड़ाव  को समझाते हुए उन्होंने कहा कि बेगूसराय पोस्टिंग में, मै अगर ग्रेजुएट बना तो भागलपुर में पोस्ट ग्रेजुएट। अब दरभंगा में डॉक्टरेट की तैयारी है।

उन्होंने आगे कहा कि यहाँ की टीम बहुत अच्छी थी, सभी थानेदारो ने अपने अपने इलाको में संतोषजनक कार्य किया। किसी भी थानेदार ने कोई भी बड़े शिकायत का मौका नहीं दिया। सभी ने अपनी-अपनी क्षमता के अनुरूप काम किया चाहे वह सिपाही हो या पदाधिकारी। जो जिस काम मे दक्ष था, उसने वैसी जिम्मेदारी दी थी। अमरजीत हत्याकांड में डीआईयू सेल का एक सिपाही एक हज़ार से अधिक नंबरों का सीडीआर को एनालिसिस कर रहा है और अनुसंधान में अफसरों को मदद कर रहा हैं। यहां के सिविल सोसाइटी को आगे बढ़ाने की जरूरत है।

विदाई समारोह में एसएसपी की पत्नी सामाजिक कार्यकर्त्ता चेतना त्रिपाठी ने अपने सम्बोधन में कहा “भागलपुर मेरे मायके जैसा है, यहाँ के लोग मेरे परिवार की तरह है”। यहाँ दो साल का समय कैसे बीत गया, पता ही नहीं चला।