लालू यादव का स्वास्थ्य बिगड़ा, फिर भी जेल भेजने की साजिश कर रही मोदी सरकार

आईएनएन भारत डेस्क

रांची एम्स द्वारा शुक्रवार को जारी मेडिकल बुलेटिन राजद सुप्रीमों लालू यादव और उनके समर्थकों के लिए कोई अच्छी खबर लेकर नही आया है। ताजा बुलेटिन के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव का शुगर लेवल काफी बढ़ गया है और उनका स्वास्थ्य दिन ब दिन बिगडता ही जा रहा है।

रिम्स में भर्ती बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री, राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव के स्वास्थ्य को लेकर जारी हुए मेडिकल बुलेटिन के अनुसार उनका शुगर लेवल काफी बढ़ गया है। उनका शुगर लेवल 406 बताया गया है, फिलहाल शुगर लेवल नियंत्रण करना रिम्स के डॉक्टरों के लिए बहुत बड़ी चुनौती बना हुआ है। एम्स की रिपोर्ट के आधार पर उन्हें इंसुलिन का इंजेक्शन दिया जा रहा है, फिर भी शुगर लेवल नियंत्रण में नहीं आ रहा है।

इसके बीच रिम्स के चिकित्सकों ने इंसुलिन की मात्रा बढ़ाने का निर्णय कर लिया है, पिछले दिनों जब लालू यादव दिल्ली के एम्स में थे वहां भी उन्हें चक्कर आने की शिकायत थी। इसकी वजह से वो बाथरूम में भी गिर पड़े थे, यहाँ भी उन्हें पिछले दो दिनों से रात में चक्कर आ रहे हैं। इसको लेकर रिम्स के निदेशक आर के श्रीवास्तव ने कहा कि कभी-कभी शुगर बढ़ जाने के कारण इस तरह की शिकायत होती है।

रिम्स निदेशक के अनुसार लालू यादव का स्वास्थ्य स्थिर होने पर दो-तीन दिन बाद मेडिकल बोर्ड बैठेगा और उनको जेल में शिफ्ट करने को लेकर फैसला लेगा। राजद सुप्रीमो का एक साथ 15 बीमारियों का इलाज चल रहा है। हालांकि केन्द्र सरकार और भाजपा एवं संघ उन्हें किसी भी सूरत में जेल भेजने की योजना बना रही है। जिससे उनकी प्रोविजनल बेल की कोर्ट में लंबित याचिका निरस्त हो जाये। जिसके लिए वह पूर्व मुख्यमंत्री के बिगडते हुए स्वास्थ्य और खराब होती हालत की भी अनदेखी कर रही है।