भाजपा सरकारें बेटी बचाने में नाकाम, गुडगांव और अमेठी में नाबालिग बच्चियों के साथ गैंगरेप

आईएनएन भारत डेस्क
भाजपा शासित राज्यों में जिस प्रकार से महिलाओं और नाबालिग बच्चियां रोजाना यौन हमलों का शिकार हो रही हैं। उसे देखते हुए भाजपा का नारा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं सही मायने में देश की बेटियों और उनके माता पिता के लिए एक चुनौती ही बनकर रह गया है। भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं से जुड़े अपराध थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। हरियाणा के मेवात जिले से गैंगरेप की घटना सामने आई है। यहां रविवार को आठ लोगों ने नाबालिग के साथ कथित रूप से अपहरण कर रेप किया जिसके बाद पीड़िता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है।

प्राप्त समाचारों के मुताबिक छात्रा 12वीं क्लास में पढ़ती थी और वो सोहना के करीब नूह के खोर बोसाई गांव में रहती थी। घटना वाले दिन पीड़िता के माता-पिता रिश्तेदार के यहां गए हुए थे और वह घर पर अकेले थी।

बताया जाता है कि सभी आरोपियों की पहचान कर ली गई है और उनके खिलाफ रेप, अपहरण के साथ आत्महत्या के लिए उकसाने और पॉस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।
पुलिस के अनुसार उसी गांव के आठ आदमी दो बाइक और एक कार पर आए और लड़की को उठाकर ले गए। लड़की का गैंग रेप करके उन लोगों ने पीड़िता को सोमवार की सुबह में उसके घर के बाहर छोड़ दिया।

गांव के सूत्रों का कहना है कि आरोपी काफी प्रभावशाली परिवार से हैं और वो लोग लड़की के पिता पर केस खत्म करने के लिए दबाव बना रहे हैं जिसकी वजह से उनके बीच झगड़ा हुआ।

यूपी में भी एक नाबालिग बच्ची बनी गैंगरेप का शिकार

इसके अलावा यूपी के अमेठी जिले के पितौरा गांव में एक 12 साल की बच्ची गैंगरेप का शिकार हो गयी। बताया जाता है कि पतौरा गांव में 7-8 हथियार बंद लोगों ने एक घर पर हमला कर दिया और 12 साल की बच्ची के साथ गैंगरेप कर डाला। बच्ची के मां बाप ने इस घटना और लूट का विरोध किया तो उन्हें भी मार मारकर अधमरा कर दिया गया।

बताया जाता है कि दर्जन भर से ज्यादा बदमाशों ने पतौरा गांव के एक घर में धावा बोला। पहले उन्होंने घर पर दस्तक दी और कहा कि दरवाजा खोलो तुम्हारे घर में चोरी हो गयी है। जब घर वालों ने दरवाजा नही खोला तो बेलचे से दरवाजे का कुण्ड़ा तोड दिया और बदमाश घर में घुस गये।

उन्होंने घर में लूटपाट की और 12 साल की बच्ची को उठाकर ले गये और पास के बाग में ले जाकर उसके साथ गैंगरेप किया। पुलिस अब इस मामले में शीघ्र कार्रवाई की बात कह रही है। गांव वालों के अनुसार बदमाश दर्जन भर के करीब थे और उन्होंने जाते हुए घर वालों की असलेह के बटों से बुरी तरह पिटाई की और उन्हें अधमरा करके छोड़ गये।