चीखते हुए बेहोश हो गयी विकलांग युवती के साथ शैतान पुजारी ने मंदिर में किया दुष्कर्म

आईएनएन भारत डेस्क

धमतरी (छत्तीसगढ़): धर्मस्थल की मर्यादा को तार तार करने का कठुवा का मामला अभी पूरी तरह से थम भी नही पाया था कि छत्तीसगढ़ के एक मंदिर के पुजारी ने फिर एक दिव्यांग युवती को अपनी हवश का शिकार बना लिया। दोनों पैरों से असहाय युवती के साथ एक पुजारी द्वारा झांसा देकर दुष्कर्म करने का एक बेहद शर्मनाक और घिनौना मामला सामने आया है। अपनी अस्मत बचाने के लिए असहाय युवती चीखती रही और फिर दहशत के चलते वह युवती बेहोश हो गयी परंतु हवश में अंधे शैतान पुजारी को इस विकलांग युवती पर दया नही आयी और बेहोश हो जाने के बाद भी उसने युवती के साथ दुष्कृत्य किया।

 

सिटी कोतवाली पुलिस के अनुसार घटना 24 अप्रैल शाम की है। दिव्यांग युवती बैसाखी के सहारे कंप्यूटर सेंटर से घर लौट रही थी। इतवारी बाजार स्थित मंदिर के पास जैसे ही वह पहुंची, वहां के पुजारी रमाकांत उर्फ रमाशंकर वैष्णव (25) ने उसे यह कहकर मंदिर में बुला लिया कि उसकी मां अंदर पोछा लगा रही है। उसे बुलवाया है।

 

युवती झांसे में आकर जैसे ही अंदर गई, रमाकांत उसे खींचते हुए मंदिर परिसर स्थित एक कमरे में ले गया। युवती अस्मत बचाने के लिए कोशिश करती रही परंतु डर के मारे वह आखिर में बेहोश हो गई थी। इसी हालत में पुजारी ने उससे दुष्कर्म किया। इतना ही नहीं, युवती को होश आने पर किसी को जानकारी देने पर उसे जान से मार डालने की धमकी भी धर्म के ठेकेदार ने दी।

 

किसी तरह युवती घर पहुंची, लेकिन दहशत के चलते मुंह बंद रखा। 25 अप्रैल को पेट में दर्द होने व तबीयत बिगड़ने पर परिजन उसे लेकर जब जिला अस्पताल पहुंचे, तब उसने आपबीती सुनाई। सिटी कोतवाली थाना प्रभारी संतोष जैन ने बताया कि पीड़िता के बयान के आधार पर रमाकांत के खिलाफ धारा 376, 342, 506 के तहत जुर्म दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।