युवा महिला वकील की पहल पर दिल्ली हाई कोर्ट परिसर में लगी सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन

आईएनएन भारत
नई दिल्लीः दिल्ली हाई कोर्ट की कार्यवाहक चीफ जस्टिस गीता मित्तल ने एक युवा वकील सताक्षी वर्मा के आवेदन पर पहले लेते हुए अपने कैंपस में सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन लगावाने का आदेश दिया। कार्यवाहक चीफ जस्टिस गीता मित्तल ने महज एक लेटर पर यह कदम उठाया जो उन्हें सताक्षी वर्मा नाम की एक युवा महिला वकील ने भेजा था। इससे कोर्ट में आने वाली और यहां काम करने वाली महिलाओं को काफी सहूलियत मिलेगी।

महिलाओं को अब जरूरत पड़ने पर आसानी से कोर्ट परिसर में ही सैनिटरी नैपकिन मिल जाएगी। हाई कोर्ट की इस पहल से मासिक धर्म के दौरान स्वच्छता को लेकर जागरूकता फैलाने में मदद मिलेगी। वेंडिंग मशीन के अलावा नैपकिंस को डिस्पोज करने के लिए परिसर में इंसीनेटर्स भी लगाए गए हैं, इससे यूजर्स स्वयं ही गंदे नैपकिंस को डिस्पोज कर सकेंगे और पर्यावरण की सुरक्षा करने में भी मदद कर सेकेंगे।

इससे पहले आवश्यकता पडने पर महिलाओं को यह नैपकिंस लेने के लिए काम छोड़कर कैमिस्ट शाॅप की तरफ दौड़ना पड़ता था और दुकान से नैपकिंस खरीदने की पेरशानी का भी बार बार सामना करना पड़ता था। अब यह मशीने लगने से महिलाओं को नैपकिंस लेने और उन्हें डिस्पोज करने में आसानी होगी।

इन मशीनों को लगाने की मुहिम के बारे में बात करने पर सताक्षी वर्मा ने कहा कि अब उनका लक्ष्य दिल्ली के सभी जिला कोर्ट परिसरों में ऐसी मशीने लगवाना और उनके उपयोग को सरल और सहज बनाना है। इसके अलावा सताक्षी का कहना था कि शहर के सभी कार्यस्थलों पर जहां महिलाएं बड़ी संख्या में काम करती हैं उनके लिए ऐसी सुविधाएं सरकार को मुहैया करानी चाहिए। जिला कोर्ट परिसरों में सैनिटरी पैड मशीन लगाने की मुहिम सताक्षी वर्मा ने शुरू कर दीं हैं।