भाजपा युवा मोर्चा के नेता ने लगाई थी रोहिंग्या कैंप में आग, अभी तक कर्रवाई नही

आईएनएन भारत डेस्क
14 अप्रैल की रात को दक्षिणी दिल्ली के कालिंदी कुंज के पास रोहिंग्या शरणार्थियों के कैंप में आग लग गई थी। आग लगने से शरणार्थियों का सारा सामान जल गया था, जिसमें संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी किया गया उनका स्पेशल वीजा भी शामिल था। म्यांमार से बर्बाद होकर आये रोहिंग्या फिर से बर्बाद हो गये हैं।

इस आग को लगाने की जिम्मेदारी भारतीय जनता युवा मोर्चा के एक नेता ने ट्वीट के द्वारा ली थी। जिसमें उसने आग लगाने की घटना को स्वीकार किया था और कहा था कि उसने और उसके साथियों ने यह कैंप फूंका है। भाजपा के इस युवा नेता का नाम मनीष चंदेला है।

सुप्रीम कोर्ट के जाने माने और वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने ट्वीट कर आग लगाने की बात स्वीकार करने वाले मनीष चंदेला के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई हैं। भूषण ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मैंने मनीष चंदेला के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। चंदेला और उनके दोस्त ने गर्व से सोशल मीडिया पर दावा किया था कि वह और उसके सहयोगियों ने रोहिंग्या शिविर को जला दिया है।

भूषण ने दिल्ली पुलिस को कठघरे में लेते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है और पार्टी से हटाने के लिए बीजेपी ने भी कोई एक्शन नहीं लिया है। भूषण ने ट्वीट के साथ शिकायत की कॉपी भी लगाई है।

प्रशांत भूषण के शिाकयत करने से पहले ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस-ए-मुशवरात ने भी गुरुवार को ही दिल्ली के पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक को पत्र लिखकर चंदेला के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी।

एआईएमएमएम ने पुलिस कमिश्नर को लिखे अपने पत्र में कहा था कि मनीष चंदेला ने खुलेआम अपने ट्विटर हैंडल पर दावा किया है कि उसने ही रोहिंग्या आतंकियों के घरों में आग लगाई है।