स्वाति मालीवाल का अनशन उन्नाव और कठुआ गैंगरेप के खिलाफ़ तीसरे दिन भी जारी

आईएनएन भारत डेस्क:
नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के उन्नाव और जम्मू कश्मीर के कठुआ में हुए गैंगरेप की घटना के बाद दिल्ली महिला आयोग के अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने सख्त कानून बनाने के मांग और दोषियों के ख़िलाफ़ जल्द से जल्द कार्यवाही करने के मांग को लेकर राजघाट पर अनिश्चित कालीन अनशन पर 13 अप्रैल से बैठी हुईं हैं। इस अनिश्चित कालीन अनशन का आज तीसरा दिन हैं।

स्वाति मालीवाल की मांग है कि बच्चियों के बलात्कारियों को 6 महीने के अंदर फ़ांसी की सज़ा का क़ानून बने। इन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी से पूछा है कि क्या उन्हें बच्चियों की खून भरी चीखें सुनाई नहीं देतीं?

आज रविवार को स्वाति मालीवाल से मिलने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी पहुचें और मालीवाल की ख़ैरियत पूछा। केजरीवाल ने कहा कि वो मुख्यमंत्री नहीं बल्कि एक बहन के भाई और एक बेटी के पिता के तौर पर आए हैं।

दिल्ली महिला आयोग के अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने गुरुवार को पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिख कर कही थी, “मैं अपना अनशन तब तक नही तोड़ूंगी, जब तक प्रधानमंत्री देश से बेटियों की सुरक्षा के लिए एक बृहत्तर प्रणाली बनाने का वादा नही करते।”  मालीवाल ने अधिकारियों से भी देश में सख़्त दुष्कर्म-विरोधी कानून लागू करने का आग्रह किया है। मालीवाल के अनिश्चित कालीन अनशन में बड़ी संख्या में महिलाओं और बच्चों का साथ उन्हें मिल रहा हैं।