Anita karwal, CBSE president

सीबीएसई अध्यक्ष ने चुप्पी तोड़ी, कहा यह फैसला छात्रों के पक्ष में लिया हैं

आईएन एन भारत डेस्क:
नई दिल्ली: CBSE के 10वीं और 12 वीं के पेपर लीक होने के कारण देश की परीक्षा व्यवस्था की पारदर्शिता पर सवाल खड़े कर दिये हैं। पेपर लीक मामले को लेकर सीबीएसई अध्यक्ष अनीता करवाल ने पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है। सीबीएसई अध्यक्ष अनीता करवाल ने कहा है कि हमने यह फैसला छात्रों के पक्ष में लिया हैं। हम छात्रों के बेहतरी के लिए लगातार काम कर रहे हैं। 10 वीं और 12वीं के पुनः होने वाले परीक्षा के तारीखों की जल्द ही घोषणा की जाएगी।

बात दें कि सीबीएसई ने बुधवार को घोषणा की थी कि पेपर लीक के मद्देनजर 10वीं की गणित की परीक्षा और कक्षा 12वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा दोबारा ली जाएगी।

सीबीएसई पेपर लीक मामले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा था कि यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस जल्द ही दोषियों को अपनी गिरफ्त में लेगी। जिस तरह से पुलिस ने एसएससी के मामले में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है, वैसे ही इसमें भी गिरफ्तारी होगी।

प्रकाश जावड़ेकर ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘ऐसी कोई लीक नहीं हो, यह सुनिश्चित करने के लिये एक नयी व्यवस्था जल्द से जल्द लागू हो जायेगी। मैं अभिभावकों और विधार्थियों के दर्द को समझ सकता हूं। मैं भी एक अभिभावक हूं। इस पेपर लीक मामले में जो भी दोषी होंगे, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।