भाजपा राज की विशेषता घोटाले दर घोटलेः एक और नीरव मोदी ने 14 बैंकों को चूना लगाया

आईएनएन भारत डेस्क
भ्रष्टाचार पर भाजपा और एनडीए के जीरो टोलरेंस को धता बताकर विदेश भागने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जैसे 2014 में अपने चुनाव प्रचार के दौरान मोदी के पक्ष में नारा लगा था कि घर घर मोदी, हर हर मोदी घोटालेबाजों की संख्या देखकर लगता है कि भाजपा नीत एनडीए का अबकी बार नारा होगा हर हर घोटाला, घर घर घोटाला।

घोटालों की बाढ़ में एक और नया बैंकिंग घोटाला सामने आया है। अबकी बार घोटालेबाज ने एक दो नही पूरे 14 बैंकों को चूना लगा दिया है। चेन्नई स्थित ज्वेलरी कंपनी के मालिक ने एक साथ 14 बैंकों को एक हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की चपत लगा दी और बाद में यह घोटालेबाज भी माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की तर्ज पर विदेश फरार हो गया है। अब इस मामले की जांच भी पिंचजरे में कैद तोते के रूप प्रख्यात सीबीआई को सौंपी गई है। हालांकि अभी तक किसी तरह की कोई एफआईआर फिलहाल दर्ज नहीं की गई है।

कनिष्क गोल्ड के मालिक भूपेश जैन और उनकी पत्नी नीता जैन ने एसबीआई सहित 13 अन्य बैंकों से करीब 842.15 करोड़ रुपये का लोन लिया था। इन बैंकों में पीएसयू और प्राइवेट दोनों बैंक शामिल हैं। कनिष्क गोल्ड को सबसे ज्यादा कर्ज एसबीआई ने दिया था।

अभी भूपेश और उसकी पत्नी दोनों फरार चल रहे हैं और उनके मॉरीशस में होने की संभावना जताई जा रही है। मूलधन और अब तक का ब्याज मिलाकर यह कर्ज एक हजार करोड़ रुपये से अधिक का हो चुका है।