बुआ-भतीजा की तैयारी योगी-मोदी पर भारी

आईएनएन भारत डेस्क:
नई दिल्लीः लगता है उत्तर प्रदेश में बुआ भतीजे की जोड़ी ने उप चुनावों में मुख्यमंत्री योगी का किला धाराशायी कर दिया है। गोरखपुर और फूलपुर की लोकसभा सीटों पर बसपा के समर्थन से मैदान में उतरे सपा के दोनों उम्मीदवारों ने जीत दर्ज कर ली है।

यह सपा-बसपा के नये संयुक्त विपक्ष की योगी किले में जबर्दस्त सेंधमारी है। हालांकि देखा जाये तो इस बहुजन एकता में केवल सपा-बसपा ही एक साथ नही थे बल्कि इस एकता में निषाद पार्टी, अपना दल का कृष्णा पटेल ग्रुप और पीस पार्टी के अलावा अजीत सिंह के रालोद, भाकपा और माकपा का भी इस संघर्ष को समर्थन हासिल था। अंतिम समाचार लिखे जाने तक 25वें चक्र की गिनती पूरी होने तक गोरखपुर से सपा 22,954 और फूलपुर से सपा के उम्मीदवार 61000 से अधिक वोटों से आगे थे।


जब वोटों की गिनती हो रही थी और सपा उम्मीदवार बढ़त बनाये हुए थे तो ऐसे में यूपी विधानसभा प्रांगण में बसपा सुप्रीमों मायावती ने विधानसभा में सपा नेता और विपक्षी नेता रामगोविन्द चैधरी को आगे बढ़कर इस बढ़त और जीत की अग्रिम बधाई दी। यह मीड़िया और देश की राजनीति के लिए एक दुर्लभ क्षण था। जिसे कैमरों ने कैद किया और फौरन यह भेंट वायरल भी हो गयी।

सपा-बसपा के गठजोड़ और अन्य विपक्ष के सहयोग की यह जीत यूपी में भविष्य के नये राजनीतिक समीकरणों की पटकथा लिखेगी। इस उप चुनाव को 2019 का सेमीफाइनल बताया जा रहा था। सेमीफाइनल ने फाइनल की तैयारी का पता दे दिया है कि भाजपा को रोकने के लिए किस प्रकार की तैयारी और रणनीति की आवश्यकता होगी।