भाजपा नेता की फेसबुक पोस्ट के बाद पेरियार की मूर्ति पर भी हमला

आईएनएन भारत डेस्क
त्रिपुरा में रूसी क्रान्ति के नायक की मूर्ति को सफलतापूर्वक ध्वस्त करने के बाद मदमस्त भगवा ब्रिगेड के नेताओं ने अब देश में सामाजिक न्याय के योद्धाओं को भी निशाना बनाना शुरू कर दिया है। यह उनके हौसलों की बात है अथवा जमाने से दबी हुई उनकी ब्राहमणवादी कुंठा कि लेनिन के बाद उनका निशाना सीधे ब्राहमणवाद के घोर विरोधी और अपने जीवनकाल में ब्राहमणवादी झूठ को ध्वस्त करने वाले पेरियार ही बने। यह कोई इत्तेफाक नही है कि कम्युनिस्ट नेता लेनिन के बाद ब्राहमणवाद के निशाने पर केवल पेरियार ही आये। वास्तव में यह पेरियार से ब्राहमणवादी भगवा ब्रिगेड की चिढ़ को परिलक्षित करता है।

त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति को गिराने का समर्थन करते हुए तमिलनाडु भाजपा के अध्यक्ष एच राजा ने कहा कि आज त्रिपुरा में लेनिन की प्रतिमा गिराई गई है और हो सकता है कि कल पेरियार की बारी हो। एच राजा के इस बयान से प्रेरणा लेकर भाजपा के सिटी सचिव मुथुरमन और उनके एक सहयोगी ने वेल्लोर नगर निगम कार्यालय में लगी पेरियार की मूर्ति पर पथराव करके क्षतिग्रस्त कर दिया।

हालांकि एच राजा के बयान की डीएमके के कार्यावाहक अध्यक्ष स्टालिन ने जमकर आलोचना की और एच राजा की गिरफ्तारी की मांग की। इसके अलावा माकपा और भाकपा ने भी एच राजा पर निशाना साधते हुए उनके खिलाफ तुरंत कार्रवाई की मांग की। इसके साथ ही कांग्रेस और पीएमके, डीएमडीके आदि दलों के नेताओं ने भी भाजपा नेता के खिलाफ कार्रवाई की मांग की और चेतावनी देते हुए कहा कि भगवा ब्रिगेड हमेशा तमिल नेताओं को नापंसद करता है और उन पर निशाना साधता है।