दिल्ली में पकड़ा गया नाबालिग लडकियों की तस्करी करने वाला गिरोह

आईएनएन भारत डेस्क:
नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने दावा किया हैं कि उस ने नाबालिग लड़कियों के अवैध तस्करी का पर्दाफाश करते हुआ चार लोगों को गिरफ्तार किया है और तीन नाबालिग लड़कियों को बचाया है।

कल शाहदरा इलाके की गीता कॉलोनी से एक 14 साल की एक लड़की की गुमशुदा होने की रिपोर्ट आई थी। डीपीपी (शाहदरा), नुपूर प्रसाद ने कहा की मामला दर्ज करने के बाद लड़की को ढूंढने में पुलिस ने अपनी एड़ी चोटी लगा दी। उस के बाद पुलिस ने उस लड़की को गौतमबुद्ध नगर इलाके की पल्ला गांव से ढूंढ निकला।

उस के बाद लड़की को बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया गया और उसका बयान दर्ज किया गया। घटना के बारे में पता चला की 32 वर्षीय नीरज के पास उस लड़की को 4 लाख रुपये में बेच दिया गया था। पुलिस ने नीरज को गिरफ्तार कर लिया है।

जब नीरज से पुलिस ने पुछ्ताछ की तो पता चला की अनुज नामक एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी के साथ मिलकर इस लड़की को नीरज के पास बेच दिया था। उन दोनों के साथ बबलू नाम का एक और व्यक्ति भी शामिल था। उन तीनों को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और जब अनुज के घर की तलाशी पुलिस ने ली तो वहां से दो और नाबालिग लड़कियाँ बरामद हुई।

पूछताछ के दौरान, आरोपी ने बताया कि उनके गिरोह के साथ चार और लड़कियां भी हैं। यह गिरोह दिल्ली-एनसीआर में रेलवे और बस स्टेशनों जैसे व्यस्त स्थानों पर नाबालिग लड़कियों को अकेला पा कर उनको उठा लेता है और फिर उन को बेच देता हैं। प्रसाद ने कहा की एक टीम का गठन किया गया है जो अन्य आरोपियों का पता लगाने का काम करेगी।