बिहार में फिर दिखा ब्राहमणवादी आतंक, होलिका दहन पर जलायी दलितों की बस्ती

आईएनएन भारत डेस्क:

जहानाबादः बिहार के जहानाबाद जिले में एक बार फिर से दलित समाज बना ब्राहमणवादी आतंक का शिकार। बिहार के जहानाबाद में दबंग सामंतवादियों के हमले का शिकार एक बार फिर से दलित समाज हुआ है।

जब से महागठबंधन से अलग हो कर नीतीश कुमार ने भाजपा के साथ सरकार बनायी है। तभी से लगातार दलितों पिछड़ों पर दबंगों के जारी हमले वंचित वर्ग पर कहर बनकर टूट रहे हैं। एक तरह से इस सरकार के नेतृत्व में बिहार में ब्राहमणवादी जंगलराज चल रहा है। कब किस वंचित तबके के परिवार की हत्या हो जाए, किसके घर पर कोई कब्जा कर ले या फिर घर को जला दे कोई नहीं जनता। सरकार और पुलिस बिहार में ऐसी घटना रोकने में लगातार विफल रही है अथवा कहें कि इन घटनाओं पर चुप्पी साध लेना ही उनकी ड्यूटी का हिस्सा बन गया है।

ताजा घटना जहानाबाद जिले की है। यहां रेलवे लाइन के सहारे बनी गरीब बस्ती पर हमला किया गया। होलिका दहन के दिन दबंगों ने मखदुमपुर की दलित बस्ती में आतंक का नंगा नाच किया। दबंगों के इस आतंक के नंगे नाच में गरीब दलितों के घरों को निशाना बनाया गयाा उन्हें जलाकर तबाह कर दिया गया।

आईएनएन के संवाददाता ने जहानाबाद के स्थानीय सूत्रों से संपर्क कर मामले की जानकारी ली तो पता चला कि दबंग जाति के लोग इस दलित बस्ती की जमीन को कब्जा करना चाहते थे और जिसके लिए यहां बसे गरीब दलित परिवारों को लगातार डराया धमकाया जाता था। परंतु होलिका दहन के दिन मौका देखकर इन दलितों के घरों में दबंगों ने आग लगा दी। दबंगों के इस आतंक का जब दलितों दवारा विरोध किया गया तो दबंगों ने दलित परिवारों के साथ मारपीट भी की। जिसमें मनोज पासवान, राम छ्पीत पासवान समेत दर्जन भर महिला पुरुष घायल हो गये।