जामिया NSUI के PHD छात्रों ने बेचा पकौड़ा

आईएनएन भारत डेस्क:
नई दिल्ली। एनएसयूआई जामिया मिलिया इस्लामिया  यूनिट ने “मोदी के बयान पकौड़ा बनाओ रोजगार पाओं” के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कियाl प्रधानमंत्री मोदी की “पकौड़ा बनाओ रोजगार पाओं” नीति  के खिलाफ आज जामिया मिलिया इस्लामिया एनएसयूआई के छात्रों ने पकौड़ा बनाकर विरोध प्रदर्शन किया।

लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि “मैं हर वर्ष युवाओं को दो करोड़ रोजगार दूंगा”, लेकिन 4 वर्ष बीत चुके हैं अभी तक मोदी सरकार ने एक करोड़ रोजगार भी नहीं दिया है। रोजगार के मुद्दे को लेकर जामिया के छात्रों ने जमकर विरोध किया और इस झूठी सरकार के खिलाफ पकौड़ा बनाकर विरोध प्रदर्शन किया l

जामिया एनएसयूआई के अध्यक्ष इमरान चौधरी ने कहा कि मोदी सरकार एक जुमलेबाज सरकार है जो युवाओं,  छात्रों, किसानों को, मजदूरों को जुमला बाजी कर गुमराह कर रही है। मोदी सरकार पूंजीपतियों की सरकार है। पूंजीपतियों की बहुत बड़ी हितैषी हैं। यह गरीब और युवा विरोधी है l छात्र नेता सफोरा जरगर ने बताया कि मोदी सरकार ने रिसर्च स्कॉलर, इंजीनियर्स व मैनेजमेंट के छात्रों को रोजगार देने में नाकाम रही है। हम इस सरकार का विरोध करते हैं।

एनएसयूआई के उपाध्यक्ष सलीम उमर व दानिश ने बताया कि हम मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ हैं क्योंकि यह सरकार पूंजीपतियों का संरक्षण करती है। जबकि एनएसयूआई के अन्य मेंबर मंजर ईमाम, आसिफ मोहम्मद, इकराम हसनैन रजा, मुकुंद झा, जुबैरवसीम अहमद, उमेमा, ताबिश गजाली, सैयद असर फहरत, लाईबा मशुद आदि ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और इन्द्रेश कुमार के भीख मांगो रोजगार नीति का भी विरोध किया।