तीन दिन के भीतर सेना तैयार कर सकती है RSS: मोहन भागवत, राहुल गांधी की तीख़ी प्रतिक्रिया

आईएनएन भारत डेस्क:
मुज़फरपुर: आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने  आरएसएस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुऐ कहा कि अगर देश को जरूरत पड़ी तो देश के लिए लड़ने के खातिर तीन दिन के भीतर आरएसएस सेना तैयार करने की क्षमता रखती हैं। भरतीय सेना को सैन्यकर्मियों को  तैयार करने करने में 6 से 7 महीने लग जाते हैं। आरएसएस में मिलिट्री जैसा अनुशासन है और सिर्फ तीन दिन में सेना तैयार किया जा सकता है, अगर संघ के स्वयंसेवकों को लेकर बनाया जाय।

मोहन भागवत, जिला स्कूल मैदान में आरएसएस स्वयंसेवकों को सम्बोधित करते हुए आगे कहा कि अगर कभी देश को जरूरत हो और  संविधान इजाजत दे तो स्वयंसेवक मोर्चा संभाला लेंगे। आरएसएस के स्वयंसेवक देश की रक्षा के लिए हँसते- हँसते बलिदान देने को तैयार रहते है।

राहुल गांधी की तीख़ी प्रतिक्रिया:
राहुल गांधी ने भागवत के इस वक्तव्य पर तीख़ी प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट कर कहा कि आरएसएस प्रमुख का वक्तव्य से प्रत्येक भरतीय का अपमान करने वाला हैं। क्योंकि यह उन लोगों का अनादर है,जो देश के लिए मार मिटे हैं। यह हमारे ध्वज का अपमान है क्योंकि यह प्रत्येक सिपाही का अपमान करता है, जो इसे कभी सलामी दी हैं। हमारे शहीदों और हमारी सेना का अपमान करने के लिए श्री भागवत को शर्म आनी चाहिएl

संजय सिंह ने भी दी प्रतिक्रिया:

आम आदमी पार्टी के संजय सिंह भी ट्विटर पर ट्वीट किया कि “अगर ये बयान किसी दूसरी पार्टी के नेता ने दिया होता तो,भाजपाई अब तक उसे पाकिस्तान भेज देते, मीडिया तो फाँसी की सज़ा की माँग कर देता, लेकिन बात भागवत की है “हम आह भी भरते हैं तो हो जाते हैं बदनाम,वो क़त्ल भी करते है तो चर्चा नही होता”l