मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सबसे करीबी जदयू विधायक ने छोड़ा साथ

आईएनएन भारत डेस्क:
पटना। महागठबंध से अलग हो कर, बिहार में भाजपा के साथ सरकार में शामिल सीएम नीतीश कुमार कि परेशानी दिन प्रति बढ़ती जा रही हैं। नीतीश कुमार के सबसे करीबी और बिहार विधानसभा चुनाव में रिकार्ड वोटों से जीत दर्ज करने वाले सरफराज आलम ने जदयू से नाता तोड़ दिया हैं।

जदयू विधायक ने ऐसे समय में नीतीश सरकार का साथ छोड़ा हैं। जब बिहार में तीन जगहों पर उपचुनाव होने वाले हैं। दो विधानसभा सीट पर और एक लोकसभा सीट पर।

आपको बता दें कि विधाक सरफराज आलम राष्ट्रीय जनता दल से अररिया के स्वर्गीय सांसद तस्लीमउद्दीन आलम के बेटे हैं और इन्हें राजद के तरफ से अररिया लोकसभा से उम्मीदवार के तौर पर देखा जा रहा हैं। जबकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी सरफराज आलम को अररिया लोकसभा के उपचुनाव में टिकट देने की बात कही थी। मगर सरफराज ने नीतीश को मौकापरस्त बोलते हुए पार्टी छोड़ कर राजद का दामन थाम लिया।

वहीं बिहार कि राजनीतिक में पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के एक बयान से हलचल मच गया हैं। जेल में बंद लालू प्रसाद ने एलान किया कि बिहार में होने वाले उपचुनाव के तीनों सीटों पर उनकी पार्टी चुनाव लडेगी।

तीनों सीटों पर 11 मार्च को मतदान होगा। 14 मार्च को मतगणना होगी। वही नामांकन 13 फरवरी से शुरू हो कर 20 फरवरी तक चलेगी। 23 फरवरी नाम वापस लेने कि अंतिम तिथी होगी।