रामदेव को मुख्य अतिथि बनाने पर, कैंसर सेंटर ने आईआईटी प्रयोजक बनने से किया इंकार

आईएनएन भारत डेस्क:
नई दिल्ली: आईआईटी, मद्रास द्वारा आयोजित सातवें अंतरराष्ट्रीय अनुवादीकीय कैंसर अनुसंधान सम्मेलन ( 7th International Translational Cancer Research Conference) का आयोजन किया जा रहा हैं। इस चार दिवसीय सम्मेलन की सुरुआत आज से हो रही है। जिसका प्रायोजक अमेरिका के टेक्सास स्थित MD Anderson Cancer center था। जब पता चला कि आयोजकों ने बाबा रामदेव को मुख्य अतिथि के तौर पर निमंत्रित किया हैं तो एमडी एंडरसन कैंसर सेंटर ने प्रयोजक बनने से इंकार कर दिया।

बता दें कि नवंबर 2017 में ही बाबा रामदेव ने कैंसर के बारे में कहा था कि इंसान को कैंसर उसके पिछले जन्मों में किये गये पापों के कारण होता है। जबकि एमडी एंडरसन कैंसर सेंटर कैंसर के इलाज़ के लिए मेडिसिन बनाती हैं।

हलाकी मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार अब बाबा रामदेव ने तथाकथित व्यस्तता के कारण सम्मेलन जाने से मना कर दिया है। लेकिन इन सबके बीच आईआईटी, मद्रास की अच्छी खासी फ़ज़ीहत हो गयी हैं। साथ ही आश्चर्य की बात यह है कि आईआईटी जैसे साइंटिफिक संस्थानों को भी बाबा रामदेव में मुख्य अतिथि जैसा भी कुछ दिखता है, जो कैंसर जैसे रोग को पिछले जन्म के किये गए पापा को कारण बताता हो। अगर ये स्तर आईआईटी का है, तो छोटे कॉलेज व अन्य शिक्षण संस्थानों का क्या होगा ? जहाँ देश की बड़ी आवादी शिक्षा ग्रहण करने जाते हैं। इन छात्रों का कितना साइंटिफिक विकास होगा। इससे भी भारत के शिक्षा-व्यवस्था में हुए गिरावट की झलक मिल रही हैं।