बेरोजगारी से अच्छा हैं कि युवा पकौड़ा बेच ले: अमित शाह

आईएनएन भारत डेस्क:

नई दिल्ली: राज्यसभा में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने अपने चिर-परचित अंदाज में पहला भाषण दिया।  अपने भाषण के दौरान अपने ही अंदाज में एक तरफ़ भरतीय जनता पार्टी लीड सरकार की उपलब्धियां गिनाई, तो दूसरी तरफ विपक्ष के ऊपर तीखे हमले भी किये। कांग्रेस के ऊपर हमला करते हुए कहा कि हमें विरासत में गड्ढे मील थे, सरकार का बहुत सारा समय गड्ढा भरने में ही गया हैं।

शाह ने कहा बेरोजगारी से पकौड़ा बेचना बेहतर हैं। आज चाय वाले का बेटा देश का पीएम बन गया। मैं मानता हूँ कि परिश्रम से अपना जीवन यापन करने वाला हर व्यक्ति उतना ही बड़ा है, जितने सदन में बैठें हम लोग।

अमित शाह ने कहा कि 2013 में देश की जो स्थिति थी, उसे याद करने की जरूरत हैं। देश मे विकास की गति काफी गिरी हुई थी। महिलाएं देश मे सुरक्षित नहीं थी। सीमा की रक्षा करने वाले जवान कुछ कर नही पा रहे थे।

बीजेपी प्रमुख ने बेरोजगारी के मुद्दे को उठाते हुए कहा कि बेरोजगारी से अच्छा हैं कि युवा पकौड़ा बेच ले। पकौड़ा बेचना शर्म की बात नही हैं। इसकी भिखारी के साथ तुलना ना करें।