कासगंज में हिंदू ने हिंदू को मारा, आरोप मुसलमान पर: रामगोपाल यादव

नई दिल्ली (आईएनएन भारत): कासगंज में 26 जनवरी को उत्पन्न हुये तनाव और उसके बाद हुई हिंसा और आगज़नी का मुद्दा थमने का नाम नही ले रहा हैं। इस मुद्दे की गूंज आज संसद तक पहुच गई। राज्यसभा में समाजवादी पार्टी समेत सभी विपक्षी दलों ने कासगंज की घटना को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार पर सांप्रयदायिकता फैलाने का आरोप लगाया। उसके बाद उत्पन्न शोर–शराबे के कारण सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक स्थगित करनी पड़ी।

इस दौरान, समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव ने सदन के बाहर मीडिया कर्मियों से मुख़ातिब होते हुए दावा किया कि कासगंज में हिंदू ने ही हिंदू को मारा और मुस्लिम के ऊपर आरोप लगा दिया। उन्होंने कहा, ‘ मुस्लिम लोगों के घरों में घुस कर मार पीट की। झूठे इल्जाम लगा कर लोगों को गिरफ्तार किया जा रहा है, उनकी प्रॉपर्टी को नष्ट किया जा रहा है, आग लगाई जा रही है। पुलिस कोई कार्यवाही कर नहीं रही है। और जो लोग वास्तव में दोषी हैं, जिन्होंने गोली चलाई…सब तो वीडियो में आ गया है….सारा सबके सामने। मार कौन रहा है? मार रहा है हिन्दू……..हिंदू ने मारा हिंदू को और मुसलमान के ऊपर आरोप लगा दिया गया कि उसने मारा। तीन भाइयों के खिलाफ एफआईआर है कि वे आरोपी हैं।

आरोपी सलीम को जेल भेजा :

26 जनवरी को तिरंगा यात्रा के दौरान हुए हिंसा और आगज़नी के दौरान गोलियां भी चली थी। इसे दौरान हिंसा में चन्दन गुप्ता नामक युवक की गोली लगने से मृत्यु हो गई थी। चंदन गुप्ता की हत्या के मामले में गिरफ्तार मुख्य आरोपी सलीम को गुरूवार को कोर्ट में पेश किया गया।  जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। सलीम के भाई वसीम और नसीम की भी तलाश जारी है।