बेटा, बहू, बेटी और दमाद करते हैं वृद्ध माँ बाप को अपमानित

आईएनएन भारत:
हैदराबादः आज जिन्दगी इतनी व्यस्त बन चुकी हैं की लोगों के पास अपने वृद्ध माता-पिता के बारे में सोचने का समय नहीं है। जो माता-पिता हम लोगों को बड़े करने के लिए आपनी हर खुशी को कुर्बान कर देते है, उनकी खुशी के लिए आज हम सोचने के लिए वक्त भी निकल नहीं पा रहे हैं। ‘हेल्प एज इंडिया‘ ने भारत के महानगरों में एक सर्वेक्षण किया था, जिस में चैकाने वाले आंकड़े सामने आये हैं। सर्वेक्षण से पता चला है की 59.47 प्रतिशत वृद्ध माता-पिता अपने ही बच्चों के द्वारा बेघर किए जाते हैं।
2001 की जनगणना के अनुसार, हमारे देश में 7.66 करोड़ वृद्ध वर्ग के लोग थे जो 2011 में बढ़कर 10.38 करोड़ हो गए हैं। शहरी क्षेत्रों में 29 प्रतिशत और ग्रामीण क्षेत्रों में 71 प्रतिशत वृद्ध आयु वर्ग के लोग रहते हैं। शहरी क्षेत्रों में 51.1 प्रतिशत और छोटे शहरों में 12.4 प्रतिशत जो वृद्ध दूसरे पर निर्भर रहते हैं। एमपी, तेलंगाना, तमिलनाडु, कर्नाटक, महाराष्ट्र में 10 प्रतिशत वृद्ध वर्ग के लोग हैं जबकि केरल में 13 प्रतिशत और दिल्ली में 7 प्रतिशत है।
सर्वेक्षण में यह भी पता चला है कि 61 प्रतिशत वृद्ध लोगों को अपने ही बहू से अपमानित  होना पड़ता है, जबकि 59 प्रतिशत वृद्ध लोगों को अपना बेटा ही अपमानित करता है। बेटियों  की बात करें तो 7 प्रतिशत ऐसी बेटी हैं जो आपने बूढ़े माँ बाप के साथ दुर्व्यवहार करती हैं। वहीँ 6 प्रतिशत ऐसे दामाद हैं जो आपने बूढ़े सास ससुर से दुर्व्यवहार करते हैं।