सीआरपीएफ जवानों ने इंसानियत का परिचय दिया

आईएनएन भारतः
मलकानगिरीः ओडिशा में सीआरपीएफ जवानों ने बहादुरी और मानवता का एक नया उदाहरण दिया है। चित्रकोड़ा में दो आदिवासी महिला माओवादियों द्वारा लगाए गए बम विस्फोटों में गंभीर रूप से घायल हो गई थी। उन दोनों घायल महिलाओं को सीआरपीएफ जवानों 7 किमी कंधे में उठा कर इलाज के लिए ले गए।
खबरों के अनुसार मलकानगिरी-बीजापुर (छत्तीसगढ़) सीमा के निकट घने जंगल में दो आदिवासी महिलाएं गुजर रही थी तभी माओवादियों द्वारा बिछाए गए बम पर उनका कदम पडगया और विस्फोट हो गया। माओवादी यह बम सीआरपीएफ जवानों के लिए बिछाए हुए थे।
दोनों आदिवासी महिलाएं बम फट जाने पर जोर से चिल्लाई। उनकी चीख सुनकर, जवान घटनास्थल पर पहुंचे और उन महिलाओं को अस्पताल ले जाने के लिए तुरन्त स्लेज तैयार किया और 7 किमी पैदल चल कर अस्पताल में दोनों महिलाओं को भर्ती कराया।