राष्ट्रगान पर सुप्रीम कोर्ट ने पलटा अपना फैसला

नयी दिल्ली (आईएनएन भारत)। सुप्रीम कोर्ट ने 3 नवम्बर 2016 को सिनेमा घरों में फिल्म शुरु होने से पहले राष्ट्रगान बजाने के लिए जो निर्देश दिया था आज उस पर कुछ संशोधन किया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सिनेमा घरों में राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य नहीं होगा। देशभक्ति किसी नागरिक के ऊपर जोर जबरदस्ती थोपी नहीं जा सकती है। जस्टिस दीपक मिश्र के नेतृत्व में बनी बेंच ने यह अहम् फैसला लिया है।
23 अक्टूबर 2017 को सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को ले कर सरकार का भी मत पूछा था। सरकार ने कहा था कि इसके ऊपर कमेटी बैठाई जायेगी। कमेटी बनने के बाद राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य नहीं होगा। सिनेमाघरों के ऊपर निर्भर करता है कि वह राष्ट्रगान बजाएं या नहीं।