गिरफ्तारी से नहीं रुकेगा आंदोलन, जारी रहेगा संघर्ष

आईएनएन भारत:
अहमदाबाद। सरदार बाग़ में संविधान बचाओं को लेकर शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे गुजरात जन आन्दोलन के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने जबरन धरना स्थल से उठा लिया।
देश में गौ रक्षा और लव जेहाद के नाम पर मासूम मुसलमानों की हो रही हत्या के खिलाफ गुजरात जन आन्दोलन के कार्यकर्ता  संविधान बचाओं के नाम से शांतिपूर्ण धरना दे रहे थे।
आन्दोलनकारियों की मांग थी कि देश में जिस तरह से निर्दोष मुसलमानों की बेरहमी से हत्या की जा रही है और देश के पीएम खामोश हो कर तमाशा देख रहे हैं। उससे कही न कही लगता हैं कि इन हत्यारों को शह पीएम की खामोशी से मिल रही हैं। आन्दोलनकारियों की मांग थी कि संविधान की धज्जियां उड़ाने वाले और क़ानून को हाथ का खिलौना समझने वालें हत्यारे  संगठन को प्रतिबंधित किया जाए। मगर पुलिस शांतिपूर्ण धरना दे रहे लोगों को जबरन थाने ले गई और करीब 3 घंटा थाने में डिटेन रखा।
गुजरात जन आन्दोलन के नेता अधिवक्ता शमशाद पठान ने बताया कि संविधान को बचाने के लिए उठने वाली आवाज को दबाने के लिए पुलिस का इस्तेमाल पहली बार नही हुआ लेकिन भाजपा और पुलिस से डरने वाले हम लोग नही है। जो साथी शांतीपूर्ण धरना दे रहे थे और संविधान बचाने की मांग कर रहे थे उन्हें पुलिस जबरन उठा ले गई। ऐसी गिरफ्तारियों से हम लोग नहीं डरने वालें संविधान बचाओ आन्दोलन आगे भी जारी रहेगा।