बाप-बेटा पहुँचे गुजरात विधानसभा

आई एन एन भारत डेस्क:
अहमदाबाद. गुजरात चुनावों के नतीजों के जहां कई अनूठे निहितार्थ और मायने है तो वहीं इसमें कुछ चौंकाने वाले दिलचस्प वाक़िए भी है। गुजरात विधानसभा चुनाव में एक चौंकाने वाला नतीजा सामने आया हैं। गुजरात में इस साल खुद की पार्टी बना कर चुनाव लड़ रहे बाप बेटा ने जीत दर्ज करके गुजरात विधानसभा में दाखिला लिया है। गुजरात विधानसभा में आने वाली बाप बेटे की यह जोड़ी बेशक कुछ नए कीर्तिमान बनाएगी तो वहीं इनसे आदिवासी समाज के लिए भी कुछ अच्छा कर दिखाने की इनके समाज को उम्मीद रहेगी।

भारतीय ट्राइबल पार्टी और आदिवासियों के बड़े लीडर छोटूभाई वसावा के बेटे महेशभाई वसावा ने भी जीत दर्ज कि हैं। डेडियापाडा से पहली बार विधानसभा का चुनाव लड़ रहे भारतीय ट्राइबल पार्टी के अध्यक्ष महेशभाई वसावा भाजपा को हरा कर पहली बार विधानसभा पहुंचे. है। वही झगड़िया से भारतीय ट्राइबल पार्टी के उम्मीदवार छोटूभाई वसावा ने 7वी बार जीत दर्ज की हैं।

दूसरी तरफ़, बीजेपी 99 सीट लाकर पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही हैं। हालांकि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 150 सीट जीतने का दावा कर रहे थे जो दूर की कौड़ी साबित हुई। बीजेपी के कई सीटिंग मंत्री भी चुनाव हार चुके हैं। मुख्यमंत्री रूपानी भी काफ़ी समय तक पीछे चल रहे थे। उन्होंने भी मुश्किल से जीत हासिल की है।

कांग्रेस ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर 80 सीट लेकर गुजरात कांग्रेस ही नहीं पूरी कांग्रेस पार्टी में जान फुक दी है। राहुल गाँधी भी इस चुनाव में कांग्रेस के खैवनहार के रूप में उभर कर सामने आये है।

दलित नेता जिग्नेश मेवानीऔर ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर, दोनों पहली बार चुनाव लड़ रहे थे, और दोनों शानदार तरीके से जीत दर्ज करके गुजरात विधानसभा पहुँचे हैं।